उन्नाव रेप केस में आरोपियों के खिलाफ दर्ज की गई चार्जशीट

उत्तरप्रदेश के उन्नाव केस में एक नया रुख सामने आया है। 23 वर्षीय युवती के साथ दुष्कर्म और उसके बाद उसे जलाने के मामले में उन्नाव जिले में 5 पुलिस द्वारा चार्जशीट दाखिल की गई है। पांचों आरोपियों के खिलाफ यह चार्जशीट दाखिल की गई थी।

खबरों के मुताबिक इस मामले के तहत आरोपी शुभम, शिवम त्रिवेदी, हरिशंकर, उमेश और रामकिशोर के खिलाफ चरगेशित को दाखिल किया गया है। पुलिस का इस पर यह बयान सामने आया है कि चार्ज को दाखिल करने से पहले इलेक्ट्रॉनिक सर्विलांस और फोन लोकेशन के जरिए पूरे मामले की जानकारी जुटाने के बाद ही चार्ज शीट दाखिल की है और पुलिस इस पड़ताल में जुट गई थी की लड़की को जलाने के लिए पेट्रोल कहां से आया था? पड़ताल के बाद यह सामने आयी की लड़की को जलाने के लिए इस्तेमाल किया जाने वाला पेट्रोल शुभम की बाइक से निकाला गया था. इस मामले में अभी डीएनए और ब्लड रिपोर्ट के मिलने के बाद कुछ कहा जा सकता है।

खबरों की मानी जाए तो युवती के साथ दुष्कर्म करने के बाद पांच दिसंबर को उसे बेहरमी से जलाया दी गया और मौत से लड़ने के बाद आख़िरकार उसकी मौत हो गई। डीएनए को मिलाने के लिए पुलिस ने पांचों आरोपियों के ब्लड सैंपल भी लिए थे। डीएनए के मिलान के लिए स्थानीय अदालत ने सोमवार को पांचों आरोपियों -शुभम, शिवम, हरि शंकर, उमेश और राम किशोर- के रक्त और डीएनए नमूने लेने के लिए पुलिस को अनुमति दी गयी थी।

यह भी पढ़ें : जबलपुर में लड़की को पेट्रोल डालकर जलाया, 80% झुलसी

वही पुलिस की तरफ से यह भी बयान सामने आया है की पूरे मामले को सबूतों पर आधारित की जाएगा। मोबाइल के लोकेशन से यह साफ़ पता चलता है की सभी पांच युवक उसी स्थान के पास मौजूद थे, जहां युवती को जलाया गया. लेकिन आरोपियों ने जो बयान पुलिस को दिए है वो सभी बयान स्थिति से अलग दर्शते है।