बाढ़ से सहमा बिहार

0
bihar
बाढ़ से सहमा बिहार

बिहार में कई दिनों से भारी बारिश के कारण बाढ़ का कोरहम जारी है. बारिश से अबतक जान और माल का बहुत नुकसान हुआ। बाढ़ के चलते राज्य में अब तक 29 लोगों की मौत हो चुकी है। मौसम विभाग के मुताबिक देशभर में सितंबर में औसत बारिश 247.1 मिलीमीटर हुई जो सामान्य से 48 फीसदी अधिक है। यह 1901 के बाद रिकॉर्ड बारिश है।

बिहार में लगातार हो रही भारी बारिश से आम जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। बिहार में कुदरत का कहर अभी भी थमने के आसार नहीं दिख रहे है। पटना और दरभंगा में स्कूल और ऑफिस बंद करने के आदेश दिए गए है।

हालत यह है की सड़को पर नाव चल रही है । एक स्थान से दूसरे स्थान जाने का जारिया नाव बनगई गयी है लोगो में खाने पीने की खासी समयस्य है , रेस्क्यू टीम लोगो को रहत देने की जदोजहद कर रही है, लेकिन स्थिति सामान्य होने में बहुत वक़्त लगेगा ।

बाढ़ ने बिहार के कई इलाकों की रूप रेखा ही बदल दी, ज्यादातर सभी सड़के पानी में तब्दील हो चुकी है। मुख्य चौक-चौराहों के साथ दर्जनों गली मोहल्लों में घुटने से ऊपर पानी बह रहा है. वहीं मुजफ्फरपुर-सीतामढ़ी रेलवे ट्रैक भी पानी मे डूबा हुआ है. बाढ़ के चलते कई गाड़ियों के समय में बदलाव किया गया है तो वहीं कुछ ट्रेनों के रद्द करने की खबर है।

यह भी पढ़ें : बच्चा चोरी के शक में बूढ़ी महिला बनी भीड़ हिंसा की शिकार

पटना में बाढ़ का केहर ऐसा है की से न तो केंद्रीय मंत्री बच पाए और न ही बड़े सांसद और नेता. बाढ़ का पानी उनके घरो में भी घुस गया है हालात ऐसे हैं कि केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के बंगले तक पहुंचने के लिए दरिया पार करके जाना पड़ रहा है।