ट्रेड वॉर थमने की आशंका, अमेरिका-चीन के बीच हुआ समझौता

0

US-CHINA का ट्रेड वॉर आखिर थम गया है और एक राहत की खबर सामने आई है। फर्स्ट फेज में चीन और अमेरिका के बीच व्यापार समझौता हो गया है। अमेरिका के व्हाइट हाउस में राष्ट्रपति ट्रंप और चीन के उप-प्रधानमंत्री लिउ ही ने समझौते पर दस्तखत किए। इससे ग्लोबल मार्किट की भी प्रस्तिथि काफी इम्प्रूव हुई और तेजी भी देखने को मिली।

आपको बता दे की 2018 में अमेरिका ने चीन के 250 अरब डालर के सामान के इम्पोर्ट पर इम्पोर्ट शुल्क 25 प्रतिशत तक बढ़ा दिया था। इसका प्रतिकार करते हुए चीन ने भी 110 अरब डालर के अमेरिकी सामान के आयात पर शुल्क बढ़ा दिया. ट्रेड में अमेरिका चीन का सबसे बड़ा ट्रेड पार्टनर है। इस कारण की वजह से दोनों कंट्री के बीच ट्रेड वॉर का सिलसिला शुरू हो गया, जिसने वर्ल्ड इकॉनमी को काफी हद तक प्रभावित किया।

अगर एग्रीमेंट की बात की जाए तो खबर यह भी है की अमेरिकी ने कई तरह के चीनी माल पर टैरिफ में कटौती की है और इसके बदले में चीन ने कई तरह की अमेरिकी वस्तुओं और सेवाओं की खरीद का निर्णय भी लिया है। इसके साथ ही इसके अलावा चीन ने बौद्धिक संपत्तियां के मसले में अमेरिका की कम्प्लेंट्स का सलूशन निकालने का भी अस्वाशन दिया है।

यह भी पढ़ें : फ़रवरी में भारत की यात्रा कर सकते हैं डोनाल्ड ट्रम्प

एग्रीमेंट में इस बात पर भी फोकस किया गया है की चीन अमेरिकी पेटेन्ट, ट्रेडमार्क, कॉपीराइट आदि को कानूनी संरक्षण प्रदान करेगा तथा पाइरेटेड और नकली वस्तुओं की बिक्री को रोका जा सके। अमेरिका ने साथ ही यह भी कहा की चीन पर इम्पोसे किये गए एक्स्ट्रा टैरिफ को भी वापस लेगी। अब देखना यह होगा की US-CHINA के इस समझौते से ग्लोबल इकॉनमी पर क्या प्रभाव पड़ता है और इकॉनमी को कितना बढ़ावा मिलता है हुए इकॉनमी के सेक्टर में क्या सकारात्मक प्रभाव पड़ते है।