दिल्ली में ‘आप’के पांच साल: पेश किया अपना रिपोर्ट कार्ड

0
APP
दिल्ली में ‘आप’के पांच साल: पेश किया अपना रिपोर्ट कार्ड

अरविंद केजरीवाल भारतीय राजनीतिज्ञ, आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री हैं. अपने पहले कार्यकाल के दौरान ही उन्होंने अपने कार्य को बखूबी निभाया है. इससे पहले भी वह एक सामाजिक कार्यकर्ता रहे हैं और सरकारी कामकाज़ में अधिक पारदर्शिता लाने के लिये संघर्ष भी किया है. सरकार को जनता के प्रति जवाबदेह बनाने और गरीब नागरिकों को भ्रष्टाचार से लड़ने के लिये सशक्त बनाने हेतु उन्हें वर्ष 2006 रमन मैग्सेसे पुरस्कार से सम्मानित किया गया. इतना ही नहीं उन्होंने आम आदमी पार्टी के नाम से एक नये राजनीतिक दल की स्थापना की है. सभी यह बखूबी जानते है कि अब चुनाव नजदीक आ चुके है जिसके बाद चुनाव में सियासी चाले देखने को मिल ही रही है. हालांकि हम यहां बात कर रहें है अरविंद केजरीवाल के बारें में आईए आपको बताते है कि 2015 से 2019 तक app सरकार ने भारत में क्या- क्या काम किए है.

शिक्षा में बढ़ोतरी अगर बात कामकाज को करें तो इसमें सबसे पहले app सरकार ने बच्चों की अच्छी शिक्षा को लेकर काफी काम किया है जिसमें शिक्षा में काफी बढ़ोतरी हुई है. जिसमें शिक्षा बजट तिगुना किया गया है लगभग 6,600 करोड़ से बढ़कर 15,600 करोड़, इसी के साथ 20,000 से ज्यादा नए क्लासरूम की व्यवस्था की गई है. ऐसा पहली बार हुआ है कि सरकारी स्कूलों का परिणाम प्राइवेट स्कूलों से अधिक बेहतर आया है. इतना ही नहीं 2015 से प्राइवेट स्कूलों की फीस भी नहीं बढ़ी है.

हर इंसान का बेहतर इलाज स्वास्थ्य को लेकर हर दूसरा इंसान परेशान रहता या बीमारी से या फिर इलाज के पैसों को लेकर, दिल्ली एक ऐसा अकेला राज्य है जिसने स्वास्थ्य पर बजट का 13 प्रतिशत खर्च किया है. बजट की कुल संख्या लगभग 3,500 करोड से बढाकर 7,500 कर दिया गया है. जन- जन तक मुफ्त इलाज पंहुचाया है. इसी के साथ 400 से ज्यादा मोहल्ला क्लीनिक और सरकारी अस्पातालों का भी निर्माण किया है.

बिजली में दिया लोगों को राहत

app सरकार ने लोगों को सस्ती बिजली भी उपलब्ध करवाई है. लगभग हर घर में 24 धंटे बिजली रहती है. कई उपभोक्ताओं का बिल 0 आया है और 200 युनिट तक बिजली मुफ्त कर दी गई है. 200 से 400 युनिट तक बिजली के बिल को आधा किया गया, जिसका सिधा लाभ 12 लाख उपभोक्ताओं को मिला है.

घर- घर पंहुचा पीने का पानी

घर-घर प्रतिमाह 20 हजार लीटर पानी को मुफ्त किया गया, लगभग 14 लाख से ज्यादा घरों का पानी का बिला 0 हुआ है. दिल्ली में पाईप के जरिए पानी का आपूर्ती 58 प्रतिशत बढाकर 93 प्रतिशत किया गया. दिल्ली को टैंकर माफियाओं से भी निजात दिलाया गया. इसी के साथ सभी घर और कच्ची कॉलोनियों तक पानी की समस्या को खत्म किया.

विकास में हुई वृध्दी
दिल्ली में बजट दोगुना किया, 31,000 करोड़ से बढ़कर 60, करोड़ हुआ. दिल्ली एक ऐसा राज्य है जिसका बजट मुनाफे में है. अब श्रमिको की मजदूरी को 8,632 से बढ़ाकर 14, 842 कर दी गई, जिसके बाद से अब दिल्ली में इनकी कमाई में 70 प्रतिशत का इजाफा हुआ है.

महिलाओं को दी सुरक्षा और सम्मान

दिल्ली को अपराध से मुक्त कराने के लिए लगाए 1.4 लाख सीसीटीवी कैमरे ओर भी कैमरे लगाने की कर रही है तैयारी, महिलाओं के लिए बस की यात्राओं को भी फ्री किया, इसी के साथ 13,000 बस मार्शल भी तैनात किए गए. दो लाख के नये स्ट्रीट लाइटस का भी प्रबन्ध भी करना शुरू कर दिया गया.

कच्ची कॉलोनियों का रखा ध्यान

app सरकार द्वारा 8,000 करोड़ कच्ची कॉलोनियों में विकास कार्य किए गए है. वहीं 1797 कच्ची कॉलोनियों में से 1,281 कॉलोनियों में सड़क निर्माण का कार्य करवाया गया. इतना ही नहीं लगभग 1,130 कच्ची कॉलोनियों में सिवर लाइनों को बिछाया गया है .

बेहतरीन हुए यातायात

डीटीसी में 4,300 नई बसे शामिल हो रही है. मेट्रौ के रूट में भी इजाफा किया है 173 किलोमिटर से बढाकर 289 किलोमिटर कर दिया गया है कॉमन मोबिलिटी कार्ड द्वारा कैशलेस यात्रा आसान कर दी गई है. इसी के साथ ड्राईविंग लाइसेंस लेने में भ्रस्टाचार को खत्म किया गया.

जानता की अपनी सरकार

डोर स्टेप डिलीवरी के जरिये पहली बार घर तक सीधे सरकारी सेवाएं पहुचाई गई है. 2.6 लाख से ज्यादा लोगों ने इसका लाभ उठाया है. लगभग 35 हजार बुजूर्गों के लिए तीर्थयात्रा का प्रबन्ध करावाया गया , दिल्ली के फरिश्ते योजना के तहत लगभग 3,000 से ज्यादा सड़क दुर्घटना के घायलों की जान बचाई.

नए दौर की सरकार

अब वाई-फाई हॉटस्पॉट लगवाने का काम शुरू किया जिसमें लगभग 6 महिने लगेंगे, जिसकी संख्या 11,000 है. इसी के साथ यह भी बता दें कि दिल्ली इंडिया टुडे के राज्य सर्वेक्षण 2019 में गवर्नेस में छोटे राज्यों में नम्बर एक पर है. नीति आयोग के इनोवेशन इंडेक्स में छोटे राज्यों में पहले पायदान पर है.