इन आयुर्वेदिक जड़ी बूटियां से आप शरीर में बढ़ा सकते है ऊर्जा का स्तर

0

नई दिल्ली: आयुर्वेदिक जड़ी बूटियां का इस्तेमाल सदियों से किया जा रहा. पहले के समय में अधिकतर लोग आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों का प्रयोग कर रोग का इलाज करते थे. बेशक आज इसका उपयोग कम किया जाता है लेकिन, काफी लोग आज भी ऐसे है जो एलोपैथिक दवाइयों के जगह आयुर्वेदिक दवाइयों का इस्तेमाल करते है.

तो चलिए जानते है कुछ ऐसी आयुर्वेदिक जड़ी बूटियां के बारे में जो आपके शरीर में उर्जा का स्तर तो बढ़ती है साथ ही साथ ताकत भी बनाई रखती है.

अश्वगंधा:

अश्वगंधा का अर्थ है अश्व की महक. प्राचीन काल में कहा जाता था कि इसका सेवन करने से शरीर में एक अश्व की तरह शक्ति आ जाती है. ये औषधी मुख्यत अश्वगंधा के पेड़ की जड़ से बनाया जाता है. इसका सेवन आप चूर्ण या फिर गोली के रूप में कर सकते है. ये ही नहीं इसका सेवन करने से आपको नींद भी अच्छी आएगी.

शिलाजीत:

इसका इस्तेमाल मनुष्य के शरीर से शरीरिक कमजोरी को दूर करने के लिए किया जाता है. इसको सबसे ज्यादा ताकतवर आयुर्वेदिक औषधियों में गिना जाता है. इसका सेवन उन लोगों को जरुर करना चाहिए जो जल्दी थकान और कमजोरी महसूस करते है. इसका उपयोग करने के लिए सही कंपनी के उत्पाद का ही प्रयोग करें. क्योंकि ज्यादा लोकप्रिय औषधी होने के कारण अधिकतर लोग नकली शिलाजीत भी बेंचते हैं.

सफेद मूसली:

सफेदी मूसली आपकी शारीरिक कमजोरी कम करने के साथ आपका पाचन तंत्र भी सही रखेगी. इसको एक पौधे की जड़ से बनाया जाता है. इसका चूर्ण सफेद रंग जैसा होता है. ये तमाम प्रकार की शारीरिक कमजोरियों को दूर करने में मददगार साबित होगा.

यह भी पढ़ें: इस फूल के ऐसे हैं चमत्कारी गुण, डायबीटीज के मरीजों के लिए हैं रामबाण

ब्राह्मी:

आज के समय में जितना एक व्यक्ति को शारीरिक मजबूती की जरूरत होती है वहीं मानसिक रूप से भी ताकत की जरूरत है. ब्राम्ही इस मामले में आपकी सहायत करेगा. ये आपके दिमाग को शांत करने के साथ आपकी मेमोरी को भी बढ़ता है. इस औषधी का सेवन करने से आपको अच्छी निद्रा आएगी साथ ही आप चिंता मुक्त भी रखता है.

शतावर:

ये आयुर्वेदिक जड़ी बूटी बहुत प्रकार की शारीरक समस्याओं के उपचार के लिए सहायक है. इसका इस्तेमाल अधिकतर महिलाओं में किया जाता है. ये महिलाओं के अंदर की कमजोरी को दूर करता और शरीर में नई ऊर्जा का संचार भी करता है. जिससे थकावट में कमी आती है. ये उनके लिए काफी असरदार है जिन्हें दूध की समस्या होती है. इसके अंदर एंटी ओक्सिडेंट होते हैं जो महिलाओं को समस्याओं से दूर रखते है.

यह भी पढ़ें: जानिए फलों को खाने का क्या है सही वक्त, अगर नहीं जानते है तो पढ़िये यहां

INPUTS BY QUORA