ईरान-अमेरिका के बीच तनाव , कासिम सुलेमानी की मौत के बाद दुनिया पर युद्ध का साया

iran
ईरान-अमेरिका के बीच तनाव , कासिम सुलेमानी की मौत के बाद दुनिया पर युद्ध का साया

ईरान के जनरल कासिम सुलेमानी की मौत के बाद दुनिया में युध्द का खतरा मंडरा रहा है. कासिम सुलेमानी मौत के बाद अब ईरान ने कहा है कि वो अपने कमांडर की मौत का बदला अमेरिका से लेकर रहेगा. अमेरिका इन खतरों को भांपकर

खाड़ी देशों में 3000 और सैनिक भेज रहा है. इसके जरिए अमेरिका खाड़ी देशों में अपनी किलेबंदी करने में जुटा है. खबरों के मुताबिक कहा जा रहा है कि अमेरिका के रक्षा विभाग के अधिकारियों ने कहा है कि जिन 3000 सैनिकों को गल्फ भेजा जा रहा है, वे 82वें एयरबॉर्न डिविजन के हैं और नॉर्थ कैरोलिना स्थित फोर्ट ब्रेग से ताल्लुक रखते हैं. हालांकि एक

अधिकारी ने बताया है कि अमेरिकी रक्षा मंत्रालय पेंटागन ने अब तक में इस मामले पर कोई भी फैसला नहीं किया है. 3000 सैनिकों को इसी हफ्ते कुवैत भेजा गया था. अमेरिका में ऐसी तैनाती तब की थी. जब ईरान ने ये तैनाती तब की थी. जब बगदाद में अमेरिका के दूतावास पर हमला पर दिया था. अमेरिका की इन तैयारियों से पता चलता है. कि वो ईरानी

जनरल कासिम सुलेमानी की मौत के बाद पैदा हुई हर हालात से निपटने के लिए तैयार है. पिछले सप्ताह 700 सैनिकों की तैनाती से पहले अमेरिका मई से पिछले सप्ताह तक 14000 सैनिक मध्य-पूर्व में भेज चुका है. मई में ही अमेरिका ने सार्वजनिक रूप से स्वीकार किया था. वहीं दूसरी ओर इधर अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का कहना है कि कासिम सुलेमानी का ‘खात्मा’ इसलिए किया गया है क्योंकि वो अमेरिकी डिप्लोमैट्स पर हमला करने ही वाला था. इसी के साथ उन्होंने यह भी कहा कि अमेरिका ईरान की मौजूदा सरकार को गिराना नहीं चाहता है.

अमेरिका के राष्ट्रपति ट्रंप ने फ्लोरिडा में कहा, “सुलेमानी अमेरिकी राजनयिकों और सैन्य अधिकारियों पर हमला करने ही जा रहा था, लेकिन हमने उसे बीच में ही पकड़ लिया और उसका खात्मा कर दिया” ट्रंप युध्द ईरान से युध्द नहीं चाहते है . उन्होंने कहा है कि पिछली रात को हमारे द्वारा लिया गया एक्शन युध्द को रोकने के लिए उठाया गया था. हमने युद्ध शुरू करने के लिए एक्शन नहीं लिया. हम ईरान में सत्ता परिवर्तन नहीं चाहते हैं.”

यह भी पढ़ें : उत्तर कोरिया फिर से न्यूक्लियर टेस्ट के लिए तैयार, किम ने नए हथियारों की दी धमकी

हालांकि अमेरिका के इन तर्कों से ईरान जरा भी संतुष्ट नहीं दिखता है. बीच भारत ने कहा है कि ईरानी सैन्य कमांडर जनरल कासिम सुलेमानी की हत्या से मध्य पूर्व की स्थिति आगे और नहीं बिगड़नी चाहिए. विदेश मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने कहा, “तनाव में वृद्धि ने दुनिया को सशंकित किया है. इस क्षेत्र में शांति, स्थिरता और सुरक्षा भारत के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है. यह जरूरी है कि स्थिति आगे बिगड़े नहीं. भारत ने लगातार संयम बनाए रखने का समर्थन किया है और ऐसा करना जारी रखेगा.”