BCCI के नए अध्यक्ष बनने पर सौरव गांगुली का बड़ा बयान, अगर ऐसा होता है तो…

Sourav Ganguly
Sourav Ganguly

कल से खबर चल रही थी कि भारत के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली BCCI के अध्यक्ष बनाये जा सकते है। 14 सितम्बर को इस बात ने और जोर पकड़ा। सौरव गांगुली BCCI के नए अध्यक्ष बनने के बारें में सोमवार को कहा, “यह उनके लिए कुछ अच्छा करने का शानदार मौका है।”

गांगुली की लड़ाई बृजेश पटेल के साथ है और उम्मीद है कि गांगुली एकमात्र राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार होंगे।

गांगुली ने एक बातचीत के दौरान पीटीआई से कहा, “आपको दोपहर में 3 बजे तक इंतजार करने की जरूरत है। जाहिर है, यह बहुत अच्छा लग रहा है क्योंकि मैंने देश के लिए खेला है और देश की कप्तानी की है।”

भारत के पूर्व कप्तान ने कहा, “मैं ऐसे समय में काम कर रहा हूं जब बीसीसीआई पिछले तीन वर्षों से अच्छी स्थिति में नहीं है। इसकी छवि में काफी बाधा आ गई है। मेरे लिए यह काफी अच्छा मौका है।” जुलाई में कोल्ड वॉर के कारण कार्यालय को बंद करना पड़ा था।

गांगुली ने यह भी कहा कि छोटे कार्यकाल में उनकी पहली प्राथमिकता “प्रथम श्रेणी क्रिकेटरों” की देखभाल करना होगा।

47 वर्षीय की भारतीय क्रिकेट में सभी हितधारकों से मिलने की योजना है और वह कुछ ऐसा करना चाहते हैं जो प्रशासकों की समिति (सीओए) ने 33 महीनों तक नहीं किया है।

गांगुली ने कहा, “हम सभी से बात करेंगे क्योंकि हम फैसला करेंगे लेकिन मेरी सबसे बड़ी प्राथमिकता प्रथम श्रेणी क्रिकेटरों की देखभाल करना होगा। मैंने उनसे तीन साल के लिए सीओए के लिए अनुरोध किया था और उन्होंने नहीं सुना। यह पहली बात है जो मैं करूंगा। हमारे प्रथम श्रेणी क्रिकेटरों के वित्तीय स्वास्थ्य की देखभाल करें।”

उनका निर्विरोध चुना जाना एक बड़ी जिम्मेदारी है, गांगुली ने इस बात को स्वीकार किया।

उन्होंने कहा, “चाहे वह निर्विरोध हो या नहीं, लेकिन विश्व क्रिकेट में BCCI सबसे बड़ा संगठन है। वित्तीय रूप से भारत एक क्रिकेट पावरहाउस है, इसलिए यह एक चुनौती होगी।”

गांगुली का कार्उयकाल केवल नौ महीने के लिए होगा।

आपको बता दें कि गांगुली ने शनिवार को गृह मंत्री अमित शाह के साथ बैठक की और जब उनसे पूछा गया कि क्या उन्हें बंगाल में भाजपा के लिए प्रचार करना होगा, तो उन्होंने न में जवाब दिया।

BCCI के पूर्व अध्यक्ष जगमोहन डालमिया ने बोर्ड के कुछ अद्भुत नियमो के बारें में गांगुली ने बात की। वह दिवंगत बीसीसीआई बॉस के बारे में बात करते हुए काफी भावुक हो गए।

यह भी पढ़ें: 2020 IPL को लेकर हुई बड़ी घोषणा, हुआ यह बदलाव

उन्होंने कहा, “मैंने कभी सोचा भी नहीं था (कि मैं स्वर्गीय जगमोहन डालमिया का सक्सेसर होऊंगा।)। वह मेरे लिए एक पिता की तरह रहे हैं। बीसीसीआई के कुछ महान अध्यक्ष, श्रीनिवासन, अनुराग, जिन्होंने बहुत अच्छा काम किया है।

ज्ब गांगुली से सवाल पूछा गया कि क्या यह कप्तानी से अलग होगा? गांगुली ने जवाब दिया, “भारत के कप्तान होने से ज्यादा और कुछ नहीं हो सकता।”