क्या RJD की नैया पार लगा पायेगी लालू चालीसा ?

BIHAR ELECTION
BIHAR ELECTION

दिल्ली के बाद अब बिहार में विधानसभा चुनाव होने है। कयास यह लगाए जा रहे है कि बिहार में अक्टूबर-नवंबर महीने में विधानसभा चुनाव होने वाला है। सभी राजनीतिक पार्टी बिहार के चुनाव -प्रचार में जुट गई है। नीतीश कुमार से अलग होने और पार्टी प्रमुख लालू यादव के जेल जाने के बाद से राष्ट्रीय जनता दल RJD की हालत एक बार फिर पिछड़ गई है। हालात अगर ऐसे ही बने रहे तो फिर बिहार चुनाव में एनडीए (राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन) के लिए जीत का रास्ता आसान होगा। इसलिए अब से ही RJD ने अपनी कमर कस चुनावी मैदान में कूद चुके है।

RJD प्रमुख लालू यादव चारा घोटाला मामले में जेल की सजा काट रहे। पिछले काफी समय से RJD प्रमुख लालू यादव की सेहत ठीक नहीं चल रही थी। उन्हें किडनी संबंधी कुछ समस्या है, और राजेंद्र आयुर्विज्ञान संस्थान, रांची (RIMS) के पेइंग वार्ड में उनका इलाज चल रहा है। ऐसे में पार्टी समर्थकों और नेताओं ने लालू चालीसा पुस्तिका का विमोचन किया और वार्ड के बाहर उसका पाठ करते हुए लालू यादव और पूर्व सीएम राबड़ी देवी के समर्थन में नारे भी लगाए।

आपको बता दे की अभिषेक सिंह यादव ने लालू चालीसा पुस्तिका को लिखा है। पुस्तिका का विमोचन झारखंड राजद प्रदेश अध्यक्ष अभय कुमार सिंह और महासचिव विनोद सिंह ने समर्थकों के साथ RIMS के पेइंग वार्ड के बाहर खड़े होकर किया गया था। पार्टी नेताओं के अनुसार लालू चालीसा पूरे झारखंड के लोगों के बीच वितरित किया जाएगा।

यह भी पढ़ें :सरकार का नया कानून, नाबालिग पर ऐडल्ट की तरह चलेगा केस

RJD प्रदेश अध्यक्ष अभय कुमार सिंह ने साथ ही यह भी कहा कि यह पुस्तक लालू यादव के जीवन को दर्शता है और उनके जीवन से प्रेरित है। जिस तरह बजरंगबली का नाम लेने से डर भाग जाता है उसी तरह राजनीति में सभी पार्टियां लालू यादव के नाम से घबराती हैं, केंद्र सरकार में भी लालू का भय है।