रामनवमी को हो सकता है राम मंदिर का शिलान्यास

ram mandir
रामनवमी को हो सकता है राम मंदिर का शिलान्यास

राम मंदिर को लेकर दो दशकों तक देश में चले बहस के बाद पिछले साल सुप्रीम कोर्ट ने राम मंदिर बनाने पर फैसला सुनाया जिसे लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संसद में राम मंदिर ट्रस्ट का गठन का एलान किया जिसको लेकर राम मंदिर निर्माण का कार्य रामनवमी यानी दो अप्रैल से शुरू होने की उम्मीद है।

राम मंदिर शिलान्यास के कार्यक्रम के दौरान खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मौजूद रहेंगे। कार्यक्रम का संदेश देश-दुनिया को देने के लिए कई विदेशी मेहमानों को भी निमंत्रण दिए जाने पर विचार विमर्श हो रहा है।

अखिल भारतीय संत समिति के महासचिव स्वामी जीतेंद्रानंद सरस्वती ने कहा कि मंदिर निर्माण की प्रक्रिया के दौरान राम लला को कुछ समय के लिए हटाया जा सकता है,उन्होंने आगे कहा कि राम मंदिर का हिंदुओं के लिए ईसाईयों के वेटिकन सिटी और मुसलमानों के मक्का की तरह ही महत्व है। ऐसे में भव्य मंदिर का निर्माण होगा।

उसके बाद मूलरूप से जिले के मवईधाम निवासी स्वामी परमानंद जी महाराज ने कहा कि राम मंदिर निर्माण आंदोलन से शुरू से ही जुड़े रहे, लेकिन कभी कल्पना नहीं की थी कि उन्हें ट्रस्ट में शामिल किया जाएगा।

बता दें कि राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट गठित करते समय निर्मोही अखाड़े की भावी भूमिका पर खूब मंथन हुआ। निर्मोही अखाड़ा मंदिर आंदोलन में सक्रिय होते हुए भी श्री राम जन्मभूमि न्यास का प्रतिद्वंद्वी था।

यह भी पढ़ें :संसद में हुई राम मंदिर ट्रस्ट की घोषणा

हालांकि सुप्रीम कोर्ट के स्पष्ट निर्देश के कारण निर्मोही अखाड़े को ट्रस्ट में जगह देना अनिवार्य था। इसलिए ट्रस्ट में इस अखाड़े को जगह तो दी गई.