‘राहुल गांधी एंड कंपनी’ को नहीं मिली जम्मू और कश्मीर में एंट्री

0
Rahul Gandhi
Rahul Gandhi

कांग्रेस नेता राहुल गांधी और अन्य विपक्षी दलों के 11 नेताओं को आज श्रीनगर हवाईअड्डे से दिल्ली वापस भेज दिया गया। जम्मू और कश्मीर में प्रतिबंध लगाए गए हैं क्योंकि केंद्र ने राज्य से विशेष दर्जा वापस ले लिया है और इसे इस महीने की शुरुआत में दो केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित किया गया था। राहुल गाँधी आज अन्य दलों के नेताओं के साथ कश्मीर के लिए रवाना हुए थे। सरकार ने वहां किसी भी नेताओं को जाने से रोका था।

जम्मू और कश्मीर सूचना और जनसंपर्क विभाग ने शुक्रवार को ट्वीट किया कि राजनीतिक नेताओं को श्रीनगर का दौरा नहीं करना चाहिए। सरकार जम्मू और कश्मीर के लोगों को सीमा पार आतंकवाद और हमलों के खतरे से बचाने की कोशिश कर रही है।

Install Kare Flipcart App aur Paaye Rs.500 PayTm Par Turant

श्रीनगर में जाने वाले विपक्ष के सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल में शामिल दलों में कांग्रेस, सीपीआई (एम), सीपीआई, राष्ट्रीय जनता दल, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी, तृणमूल कांग्रेस और डीएमके के नेता शामिल थे। यह प्रतिनिधिमंडल सरकार द्वारा लगाए गए कर्फ्यू के बाद वहां की स्थिति जानने पहुंचा था।

यह भी पढ़ें: केंद्र सरकार के रोक के बावजूद राहुल गांधी के साथ कश्मीर जाएंगे विपक्षी पार्टियों के नेता

राहुल गांधी के अलावा कांग्रेस के गुलाम नबी आज़ाद और आनंद शर्मा जैसे वरिष्ठ नेता जम्मू-कश्मीर के लिए उड़ान भरी थी। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) के नेता सीताराम येचुरी, सीपीआई के डी राजा, द्रमुक के तिरुचि शिवा, राष्ट्रीय जनता दल के मनोज झा और तृणमूल कांग्रेस के दिनेश त्रिवेदी भी इस प्रतिनिधिमंडल का हिस्सा थे।

यह प्रतिनिधि मंडल राज्य के अन्य हिस्सों की यात्रा करने की योजना बनाई थी। अब तक, सरकार ने किसी भी राजनीतिक नेता को राज्य में प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी है।