सवाल 10- क्या शादी करना ज़रूरी है ?

0
Marriage

आप में से जिन भी लोगों ने यह सवाल पूछा है, एक बात तो पक्की है कि उनके घरवाले, रिश्तेदार, आस-पड़ोस के लोग या प्रेमी-प्रमिकाएं शादी की बात चला रहे होंगे या शादी करने का दवाब बना रहे होंगे। तो चलिए आप सभी दोस्तों के ‘क्या शादी करना ज़रूरी है’ वाले सवाल का जवाब देते हैं।

1- शादी/विवाह/निकाह एक सामाजिक व्यवस्था है। अगर, पुरूष महिलाओं से शादी न करें तो यह सामाजिक व्यवस्था सुचारू रूप से नहीं चल पाएगी। इसलिए शादी ज़रूर करो और बेहतर समाज बनाने की दिशा में क़दम बढ़ाओ।

Loading...

2- अगर मैं कहूं कि शादी करना ज़रूरी है और शादी एक अच्छा रिश्ता है,तो इसका मतलब ये नहीं कि शादी करने वाले सब लोग खुश है वो महान लोग हैं और अगर मैं ये कहूं की अविवाहित रहना अच्छा है,तो इसका मतलब ये नहीं कि जो विवाह नहीं करते वो महान है एवं खूब हैं। इसलिए आप पर निर्भर करता है कि आप शादी करना चाहते हैं या नहीं।

3- इंसान अपने करियर में सफल होने के बावजूद भी अपने आलीशान या बड़े घर पर अकेला महसूस करता है। इसलिए उसे अपनी निजी ज़िन्दगी का निर्वाह करने के लिए एक साथी की ज़रूरत होती है, जिसके साथ वह वक्त बिता सके और ख़ूबसूरत ज़िन्दगी का आनन्द ले सके।

4- वैसे शादी कई मायनों में ज़रूरी है। इसमें एक यह है कि आपको अपने परिवार की पीढ़ी को आगे बढ़ाना है। इसलिए शादी करके पीढ़ी को आगे बढ़ाया जा सकता है। एक अच्छी, सुशील व समझदार लड़की से शादी करें और अपने माता-पिता को खुशियां दें।

अब बात आती है कि शादी क्यों ज़रूरी नहीं है।

1- वैसे तो यह कहा भी गया है कि शादी वो लड्डू है जो खाये वो पछताये और जो न खाये वो ललचाये। ऐसे में इंसान इस दुविधा में फंस जाता है कि वह शादी करनी चाहिए या नहीं क्योंकि शादी का लड्डू एक ऐसा लड्डू है जिसे इंसान खाये ले तो पछताये और अगर न खाये तो ललचाये, लेकिन हमेशा एक बात याद रखें कि अगर आपकी क़िस्मत अच्छी हुई तो शादी का लड्डू खाकर आपकी ज़िन्दगी संवर जाएगी और अगर आपकी पत्नी की क़िस्मत अच्छी हुई तो वो आपको परेशान कर करके अपनी ख़ुद की ज़िन्दगी को निखार लेगी।

2- दरअसल, शादी एक ऐसा कुंआ है जिसमें एक बार गिरकर आप अपनी ज़िन्दगी उसी कुंए में बिता देते हैं। यक़ीन मानिए दोस्तों, शादी के बाद ही यह अहसास होता है कि लालच को नियंत्रण में रखा होता तो आज यह दिन न देखना नसीब न होता मगर , ‘’तब पछतात होत क्‍या जब चिडि़या चुग गई खेत’’। शादी के बाद पुरुषों को क्या-क्या त्याग करने पड़ते हैं। आपको शायद इसका अभी अंदाज़ा भी नहीं है। शादीशुदा मर्दों को कितना कुछ खोना पड़ता है, लेकिन उन बेचारों के दर्द की सुध लेने वाल कोई नहीं।

3- दोस्तों, ध्यान रहें शादी फ्री में कपड़े धुलवाने का सबसे महंगा तरीका है। आपमें से कई लोग शायद यही जानते है कि शेर हिरन का शिकार करता है , मगर शायद यह नहीं कि शादी के द्वारा एक हिरणी शेर का शिकार करती है ,बल्कि यह कहना वाजिब होगा कि शेर खुद अपने गले में फंदा डाल लेता है।  इसीलिए शायद डॉक्टर कहते है की हर मीठी लगने वाली चीज़ धीमा जहर होती है।

4- आज के दौर में इंसान सफल होने के बाद शादी करके घर-गृहस्थी बसाना चाहता है और ज़्यादातर मामलों में यह बात सच भी हुई है। मगर भारत में सफलता सिर्फ उनके पैर चूमती है जो कुंवारे होते हैं। उदाहरण के तौर अगर, चाहे रामदेव हो , या डॉ ए पी जे कलाम ममता हो, जयललिता हो या मायावती , इसलिए तो मोदी जी भी छोड़ कर कुवाँरे होने का दम भर रहे है। और बेचारे राहुल बाबा भी शादी के नाम पर ना ना कर रहे है।

आशा करते हूं कि आप सभी को इस सवाल का जवाब मिल गया होगा। आप लोग ऐसे ही सवाल पूछते रहिए हम उन सवालों के जवाब आपको खोजकर देते रहेंगे। आप कमेंट बॉक्स में अपनी राय और कमेंट करके अपने सवालपूछ सकते है। इस सवाल को पूछने के लिए आपका धन्यवाद

ये भी पढ़ें : सवाल 3- क्या ‘कांग्रेस मुक्त भारत’ देश हित में है? यदि हां तो कैसे ?