‘बाबरी मस्जिद ढहाने का गर्व है’ बयान पर प्रज्ञा ठाकुर बैन

0

हेमंत करकरे पर विवादित बयान देकर खुद को विवादों में घेर चुकी प्रज्ञा ठाकुर पर अबकी बार चुनाव आयोग ने नकेल कसने की कोशिश की है. असल में भाजपा की भोपाल से प्रत्याशी “साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर” पर चुनाव आयोग ने 72 घंटे का प्रतिबन्ध लगाया है. ये प्रतिबन्ध प्रज्ञा ठाकुर के उपर उनके एक विवादित बयान की वजह से लगा है जिसमे उन्होंने बाबरी मस्जिद के गिरने पर गर्व ज़ाहिर किया था.

एक सवाल का जवाब देते हुए साध्वी प्रज्ञा ने कहा था कि ‘ढांचा गिराने का अफसोस क्यों होगा, उस पर तो हम गर्व करते हैं. राम के मंदिर पर अपशिष्ट पदार्थ थे, उन्हें हमने हटा दिया. इससे हमारे देश का स्वाभिमान जागा है और हम भव्य राम मंदिर मनाएंगे’

हालाँकि बाद में उन्होंने ये भी दावा किया था कि वो बाबरी मस्जिद के विध्वंस में खुद भी शामिल थी, जो कि बाद में विवादों में घिर गया. असल में कागज़ी तौर पर प्रज्ञा ठाकुर की उम्र उस समय तकरीबन 4 साल रही होगी. अब वो खुद ही अपने इस बयान में फंस गयी थी. हालाँकि अब तक इस मुद्दे पर उनकी तरफ से कोई बयान नहीं आया है.

आपको बताते चले कि ये 72 घंटे का प्रतिबन्ध 2 मई को सुबह 6 बजे से प्रारंभ होगा और अगले 72 घंटो तक चलेगा. इन 72 घंटो में वो कोई भी चुनाव प्रचार नही कर पाएंगी. अब जबकि कई बड़े नेता विवादित बयानों को लेकर चुनाव आयोग के प्रतिबन्ध का सामना झेल चुके हैं. प्रज्ञा ठाकुर भी अब उसी जमात में शामिल हो गयी हैं.