कमरों को रेनोवेट कराने के लिए OYO होटल मालिकों को एडवांस में देगा पैसे

0

हॉस्पिटैलिटी फर्म OYO ने बुधवार को कंपनी के चल रहे OYO पार्टनर एंगेजमेंट नेटवर्क (OPEN) पहल के तहत भारत भर में अपने एसेट ओनर-पार्टनर्स के लिए ‘कैश इन बैंक’ सुविधा शुरू की। इस योजना के तहत पूरे भारत भर में OYO के तहत आने वाले होटल्स और रूम्स के मालिक OYO से एडवांस में पैसे लेकर अपनी बिल्डिंग अर्थात होटल और कमरों की मरम्मत करा सकते हैं।

OYO ने एक बयान में कहा, ‘कैश इन बैंक’ (CiB) सुविधा के साथ देश भर के परिसंपत्ति मालिक अपने भवनों को अपग्रेड या पुनर्निर्मित करने के लिए त्वरित, संपार्श्विक-मुक्त व्यापार एडवांस से लाभ उठा सकते हैं।

इसकी शुरुआत के लिए OYO की सभी नई इमारतें और OYO की सभी मौजूदा इमारतें (OYO रूम्स, स्पॉट ऑन और कैपिटल O ब्रांड्स केवल) सुविधा के लिए आवेदन करने के लिए पात्र हैं।

ओयो होटल्स एंड होम्स के CEO (भारत और दक्षिण एशिया) आदित्य घोष ने कहा, “OPEN के तत्वावधान में परिसंपत्ति के मालिक-साझेदारों के साथ हमारे निरंतर जुड़ाव के प्रत्यक्ष परिणाम के रूप में उनके विस्तार और नवीकरण की जरूरतों को पूरा करने के लिए हमें एक त्वरित और परेशानी मुक्त वित्तपोषण उत्पाद प्रदान करने की आवश्यकता का एहसास हुआ।”

OYO का मानना ​​है कि इस उत्पाद में हमारे परिसंपत्ति मालिकों के लिए गेम-चेंजर होने की संभावना है। बयान में आगे कहा गया है, “असुरक्षित, संपार्श्विक-मुक्त एडवांस में शामिल वित्तीय जोखिमों को कवर करने के लिए OYO मासिक राशि और मूल राशि चुकाने के लिए परिसंपत्ति के मालिक को न्यूनतम सेवा शुल्क का भुगतान करेगा।”

इस योजना की सीमा 20 लाख रुपये तक है। इसमें कहा गया है कि परिसंपत्ति मालिक किसी भी सहायक संपार्श्विक की आवश्यकता के बिना 48 घंटे के भीतर नवीनीकरण और उन्नयन कार्य के लिए अपनी पूंजी की आवश्यकताओं को पूरा करने में सक्षम होंगे। वर्तमान में OYO होटल्स और होम्स के पास भारत के लगभग 260 शहरों में फैले 9,000 से अधिक संपत्ति के मालिक और साझेदार हैं।