मोदी-शी चिनफिंग मुलाकात : पहले आतंकवाद पर लगाम लगाए पाक, फिर होगी बातचीत

0

किर्गिस्तान के बिश्केक में शंघाई शिखर सम्मलेन से इतर आतंकवाद के मसले पर भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीनी राष्ट्रपति शी-चिनफिंग की मुलाकात हुई. इस मसले पर भारत ने अपना रुख एक बार फिर से साफ़ करते हुए चीन को बताया कि पहले आतंकवाद पर रोक लगाने के लिए पाकिस्तान काम शुरू करे, बातचीत उसके बाद ही संभव है.

भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चीन के राष्ट्रपति से कहा कि भारत चाहता है कि पाकिस्तान आतंकवाद मुक्त क्षेत्र बनाने के लिए कदम उठाये, लेकिन ऐसा होता हुआ दिख नही रहा है. भारत चाहता है कि पाकिस्तान आतंकवाद के मसले पर ठोस कार्यवाही करे, इसके बाद ही दोनों देशो में बात-चीत संभव हो पायेगी.

मालूम हो कि बीते 14 फ़रवरी को पाकिस्तान द्वारा प्रायोजित आतंकी हमले में 40 CRPF के जवान शहीद हो थे. उसके बाद से भारत ने भी एयर स्ट्राइक करके बता दिया था कि आतंकवाद के मसले पर भारत का रुख कितना कड़ा है. हालाँकि इसके बाद सुरक्षा परिषद में मसूद अजहर को आतंकी घोषित कराने में चीन अडंगा लगाता रहा है.

लेकिन पुलवामा हमले के बाद पाकिस्तान की नियत साफ़ हो गयी और चीन को भी मसूद अजहर के मसले पर अपने हाथ पीछे खींचने पड़ गये. अब दोनों देशो के प्रमुख नेताओं की मुलाक़ात क्या गुल खिलाती है ये देखने वाली बात होगी, क्योकि चीन हमेशा से ही पाकिस्तान का हिमायती बन कर उसे बचाता रहा है.