SC को शाहीन बाग के सन्दर्भ में वार्ताकारों ने सौंपी रिपोर्ट

PROTEST
PROTEST

दिल्ली के शाहीन बाग में CAA के खिलाफ प्रदर्शन जोरों पर चल रहा है। प्रदर्शन इतना ज्यादा बढ़ चुका है कि दिल्ली के जाफराबाद और चांदबाग तक CAA और NRC के खिलाफ प्रदर्शन पहुंच चुका है। शाहीन बाग में CAA के विरोध में चल रहे है प्रदर्शन का ज्याजा लेने के लिए सुप्रीम कोर्ट द्वारा दोनों वार्ताकार संजय हेगड़े और साधना रामचंद्रन को भेजा गया था। दोनों वार्ताकार की नियुक्ति का मकसद था की बातचीत से शाहीन बाग़ का मसला हल हो सके।

हालांकि, इन वार्ताकारों से बातचीत में भी कोई हल निकल कर सामने नहीं आया। अब यह खबर सामने आरही है कि दोनों वार्ताकार संजय हेगड़े और साधना रामचंद्रन ने इस सन्दर्भ में अपनी रिपोर्ट तैयार कर अदालत को सौंपा दिया है। इस पर जस्टिस एसके कौल ने कहा कि वार्ताकार की रिपोर्ट केवल अदालत के लिए है और इसे रिकॉर्ड पर नहीं रखा जाएगा।

इससे पहले वार्ताकार संजय हेगड़े और साधना रामचंद्रन की चौथे दिन की बातचीत का कोई फायदा नहीं हुआ . दोनों ने प्रदर्शनकारियों को रास्ता खोलने के लिए समझाया। लेकिन प्रदर्शनकारियों ने वार्ताकार के समक्ष सात मांगे रखते हुए कहा कि जब तक CAA वापस नहीं लिया जाएगा। तक रास्ते को खाली नहीं किया जाएगा।

यह भी पढ़ें : मोदी ने गले लगकर किया ट्रंप का स्वागत

दोनों वार्ताकारो ने अपनी रिपोर्ट अदालत को सौंपा दी है, अब देखना होगा की कोर्ट का इस सन्दर्भ में क्या फैसला आता है और शाहीन बाग़ का प्रदर्शन जल्द से जल्द ख़त्म होता है या नहीं। प्रदर्शनकारियों द्वारा सड़क को इस तरीके से जाम करने से आम जनता को खासी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है। अब बुधवार को कोर्ट के फैसले का इंतेज़ार है। फिलाल कोर्ट में इस मामले की अगली सुनवाई बुधवार को होगी।