लिंग परिवर्तन कराने पर शख्स को हुई परेशानी तो उठाया आत्मघाती कदम

0
Sucide Case
Sucide Case

शारीरिक रूप से संतुष्ट होने के लिए लोग आजकल अपने सेक्स को ही चेंज करा रहें हैं। सेक्स बदलवाना भी इतना आसान काम नहीं है। कुदरत की बनायीं हुई चीज़ को बदलने पर कुछ न कुछ परेशानियां तो आती ही है। ऐसे ही एक मामलें में एक व्यक्ति ने आत्महत्या कर ली है। आइये इस बारें में विस्तार से जानते हैं।

आत्महत्या करने का कारण यह था कि शख्स सेक्स चेंज करवाने के बाद से ही टेंशन में था उसे डिप्रेशन हो गया था। यह शख्स मध्य प्रदेश का है। शख्स पुरुष से महिला में बदलने के लिए सेक्स परिवर्तन प्रक्रिया से गुज़रा था। शख्स का नाम पलक तिवारी है। उसने शनिवार रात में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

पलक पिछले आठ साल से एक शख्स के साथ रह रही थी। उसने पहले स्वीकार किया था कि उसने यौन तृप्ति के लिए लिंग परिवर्तन किया था।

प्रारंभिक जांच से पता चलता है कि सर्जरी के बाद पलक को शारीरिक समस्याओं का सामना करना पड़ा था उसके शरीर में मूत्र प्रणाली में समस्याएं थीं और जिसकी वजह से वह डिप्रेसन में चला गया था।क्योंकि उसकी उपचार और सुधारात्मक सर्जरी सफल नहीं हुई थी।

उसके शव को एमवाय अस्पताल में पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है और जांच की जा रही है कि उसने यह कदम क्यों उठाया। अभी तक कोई मामला दर्ज नहीं किया गया है।

पलक की शादी रोहित से चार महीने पहले एक मंदिर में हुई थी। उसने शादी के लिए सर्जरी करवाई। परिवार ने पुलिस को बताया कि वह अवसाद से पीड़ित थी।

पुलिस ने बताया कि पलक के पास आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस आदि जैसे दस्तावेज थे। सूत्रों ने कहा कि सर्जरी से पहले पलक को हरीश के नाम से जाना जाता था।

यह भी पढ़ें: कुशल पंजाबी की मौत के बाद उनकी पत्नी ने बताया अपने रिश्ते का कड़वा सच

सूत्रों ने बताया कि पलक और रोहित की शादी को आठ साल हो गए थे। हालांकि, पुलिस ने कहा कि उन्होंने चार महीने पहले शादी की थी और उस समय तक लिव-इन रिलेशनशिप में थे।

चंदन नगर थाना प्रभारी योगेश सिंह तोमर ने कहा, “वे प्रारंभिक जांच के दौरान लिव-इन रिलेशनशिप शिप में थे। पलक के पति रोहित तिवारी पर आईपीसी की धारा 377 के तहत मामला दर्ज नहीं किया जा सकता है।”