ममता बनर्जी बोलीं- फारूख, उमर, मुफ्ती आंतकवादी नहीं, उनकी…

0

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री व नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारूख अबदुल्ला को केन्द्र सरकार की एजेंसियों द्वारा गिरफ्तार व हिरासत में लिए जाने की अफवाहों के बीच पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सरकार से उन्हें छोड़ने की अपील की है।

दरअसल, केन्द्र सरकार द्वारा नेशनल कॉन्फ्रेंस के सांसद फारूख अबदुल्ला को गिरफ्तार किए जाने की अफवाहों के बीच इस मुद्दे पर ममता बनर्जी भी कूद पड़ी हैं। सीएम ममता बनर्जी ने कहा, ”मुझे फारुख अबदुल्ला, उमर अबदुल्ला और महबूबा मुफ्ती को लेकर कोई जानकारी नहीं है। मेरी सरकार अपील है कि उन्हें अलग-थलग महसूस न कराया जाए। वे आतंकवादी नहीं हैं। उन्हें लोकतांत्रिक हितों के मद्देनजर रिया किया जाना चाहिए”।

इसके अलावा, ममता ने मोदी सरकार के कश्मीर से धारा 370 हटाने के प्रस्ताव का विरोध करते हुए कहा, ”हम इस धारा 370 खत्म करने के सरकार के प्रस्ताव का समर्थन नहीं कर सकते हैं और इस विधेयक पर वोटिंग भी नहीं कर सकते हैं। भाजपा सरकार को इस विषय पर कश्मीरियों और क्षेत्रीय पार्टिओं से बात करनी चाहिए थी। अगर आप किसी समस्या का स्थायी समाधान चाहते हैं तो आपको सबसे बात करनी ही होगी”।

वहीं, केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने लोकसभा में फारूख अबदुल्ला वाले मामले पर कहा, ”फारुख अबदुल्ला अपने घर पर हैं। उन्हें ना गिरफ्तार किया गया है और ना ही हिरासत में लिया गया है।” दरअसल, गृहमंत्री ने ये जवाब एनसीपी सांसद सुप्रिया सुले के सवाल (अब्दुल्ला उनके बराबर में बैठते हैं. वह आज सदन में मौजूद नहीं हैं। उनकी आवाज सुनी नहीं जा रही है।) पर दिया।

बता दें कि सरकार के कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने के फैसले के मुताबिक, तीन क्षेत्रों वाले (जम्मू, कश्मीर, लद्दाख) को जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में विभाजित किया है। लद्दाख को केन्द्र शासित प्रदेश बनाया गया है, जहां उपराज्यपाल होगा और वहां कोई विधानसभा नहीं होगी। वहीं, जम्मू-कश्मीर को भी केन्द्र शासित प्रदेश बनाया गया है। मगर वहां विधानसभा होगी और हर पांच साल में चुनाव भी होंगे।

ये भी पढ़ें : धारा 370 पर भाजपा ने कहा- कांग्रेस भी पाकिस्तान की…