क्या स्नाइपर के निशाने पर थे राहुल गाँधी?

0

बुधवार को राहुल गाँधी ने अपना नामांकन उत्तर प्रदेश के ‘अमेठी’ सीट से किया. इस दौरान वो एक रोड शो भी करते आये, जिसमे काफी लोगों ने हिस्सा लिया. इसी दौरान एक सनसनीखेज़ मामला सामने आया है. असल में इस रैली के दौरान उनके चेहरे और माथे पर तकरीबन 7 दफे हरी लेज़र लाईट देखी गयी. 2-3 बार तो यह लाइट कांग्रेस अध्यक्ष के माथे पर भी देखी गयी है.

इस बाबत कांग्रेस की तरफ से एक पत्र लिखकर गृह मंत्रालय को भी इस सुरक्षा में हुई चूक के लिए सूचित किया गया है. आपको बता दे कि राहुल गाँधी को एसपीजी सुरक्षा मिली हुई है.

इसके पहले गाँधी परिवार के दो सदस्य पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गाँधी और इंदिरा गाँधी की हत्या गोली मार कर की गयी थी, इसके बाद से गाँधी परिवार के सदस्यों को बेहद कड़ी सुरक्षा दी जाती है.

हालाँकि गृह मंत्रालय का कहना है कि उन्हें सुरक्षा में चूक से सम्बंधित कोई भी पत्र प्राप्त नही हुआ है.

मामला के संज्ञान में आने के बाद एसपीजी के निदेशक से इस बारे में रिपोर्ट मांगी गयी. जिसमे उन्होंने कहा कि असल में वो हरी लेज़र लाइट एक पत्रकार के मोबाइल फोन की थी, जो कि विडियो बनाते समय राहुल गाँधी पर पड़ गयी.

आपको इत्तेला करा दें कि इसके राहुल गाँधी ने बुधवार को अपना नामांकन अमेठी से किया. इस मौके पर उनके साथ उनकी मां सोनिया गाँधी, उनकी बहन और कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गाँधी और उनके पति राबर्ट वाड्रा और बच्चों समेत पूरा परिवार मौजूद था.