IAS बनना चाहते हैं तो करें इस तरह शुरूआत

0
IAS

दरअसल, आईएएस की परीक्षा देश की सबसे कठिनतम परीक्षाओं में शुमार है और भारत में रहने वाले अधिकतर नौजवान आईएएस बनने का सपना देखते हैं, लेकिन ख़राब शुरूआत और ग़लत रणनीति के कारण लाखों लोगों का सपना एक झटके में टूट जाता है। ऐसे में अगर आप भी आईएएस बनना चाहते हैं और परीक्षा की तैयारी करने के शुरूआती दौर में हैं तो इस लेख के माध्यम से बताई गई सलाह को अमल में लाकर आईएएस बनने की शुरूआत करें।

1- हर आईएएस अभ्यार्थी को परीक्षा की शुरूआत करने के दौरान मानसिक और शारीरिक तौर स्वस्थ और मज़बूत होना ज़रूरी है। मान लीजिए आपका मानसिक संतुलन बिगड़ा हुआ है और शारीरिक रूप से कमज़ोर हैं तो यक़ीन मानिए कि आपकी हज़ारों ख्वाहिशें, सपनें और दृढ़ता आपका साथ नहीं देगी।

Loading...

2- जोशीले नौजवान अपनी परीक्षा व विषयों के बारे में जाने बग़ैर तैयारी में जुट जाते हैं। इसे ग़लत शुरूआत ही कहा जा सकता है। तैयारी करने से पहले अपनी परीक्षा व विषयों की पूर्ण जानकारी ले लीजिए। हो सके तो आईएएस बन चुके किसी व्यक्ति से नसीहत भी लीजिए।

3- दरअसल, हिंदी भाषी व अन्य क्षेत्रीय भाषी के अभ्यार्थियों के मन में एक तरह से ये धारणा बन चुकी है कि अगर चयन/सिलेक्शन होगा तो सिर्फ़ अंग्रेज़ी विषय का चयन करने से। हां, ये बात बिल्कुल सच है कि सफल विद्यार्थियों में अंग्रेज़ी भाषा का चयन करने वाले विद्यार्थिओं का प्रतिशत ज़्यादा है, लेकिन ये भी सच है कि अपनी क्षेत्रीय भाषा व हिंदी भाषा का चयन करने वाल विद्यार्थी भी आईएएस परीक्षा में पास होते हैं। आप उस भाषा का चयन करें जिसमें आप बोल सके व लिख सके।

4- एक आईएएस अभ्यार्थी को वैकल्पिक विषय का चयन करते वक़्त अपनी रूचि देखनी चाहिए। दरअसल, अक्सर देखा जाता है कि लोग अपने वैकल्पिक विषय का चयन पिछले वर्षों में उस विषय के कितने अभ्यर्थी सफल हुए उनकी संख्या को देख कर करते हैं जो कि सबसे बड़ी गलती है। विषय का चयन अपनी रुचि के हिसाब से करें जिस विषय मे आप सहज महसूस करें और अपने प्राप्त ज्ञान को परीक्षा में बेहतर तरीके से लिख सकें उस ही विषय का चयन करें।

5- आईएएस की तैयारी करने के दौरान कई तरह की ख़ामियां आपके आईएएस बनने में बाधा डाल सकती है और इसी में एक है ‘ग़लत मार्गदर्शन’। ग़लत मार्गदर्शन इंसान के साथ-साथ उसकी बुद्धि का भी विनाश कर सकता है। इसीलिए हमेशा उसी व्यक्ति से सलाह लें जिसने आईएएस की परीक्षा पास की हो और आईएएस बन चुका हो।

6- अधिकतर अभ्यार्थी आईएएस की कठिन परीक्षा सिर्फ इसीलिए पास नहीं पाते हैं क्योंकि उनकी रणनीति सटीक व सही नहीं होती। तैयारी के दौरान सटीक व बेहतर रणनीति बनाकर आप आराम से आईएएस की परीक्षा को पास कर सकते हैं। इसके लिए आप ‘Mind Mapping’ टेक्नीक का इस्तेमाल कर सकते हैं। यक़ीन मानिए इस टेक्नीक का इस्तेमाल करने पर अभ्यार्थी पहली बार ही आईएएस का एग्ज़ाम पास कर सकता है।

7- देश की सबसे प्रतिष्ठित परीक्षा यानी आईएएस की परीक्षा की तैयारी करने के दौरान सकारात्मक रहें और अच्छा सोचें और जितना हो सके अपनी पढ़ाई को इंजॉय करें क्योंकि सकारात्मक और इंजॉय करके किए गए कार्य में हमेशा सफलता हासिल होती है।

ये भी पढ़ें : जानिए, क्या होता है हवाला कारोबार और ये कैसे काम करता है?