हमीरपुर- बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे के निर्माण को लेकर डीएम ने की समीक्षा बैठक, जमीन का मुआवजा 15 दिन में

0

हमीरपुर: बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे परियोजना के लिए अर्जुन प्रस्ताव को लेकर डीएम के साथ  समीक्षा बैठक की गई है.

बता दें कि इस मीटिंग पर एक्सप्रेसवे को लेकर विचार-विमर्श में जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने कलेक्ट्रेट सभागार में कहा कि जिन ग्रामों से बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे निकलना प्रस्तावित है. ये ही नहीं उन गांवों व उनके आस-पास एसडीएम व तहसीलदार भूमि आवंटन तत्काल बंद कर दें.

बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे का कुल 293 किमी मार्ग प्रस्तावित है

अभिषेक प्रकाश ने आगे बताया कि बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे का कुल 293 किमी मार्ग प्रस्तावित है. वहीं जनपद में 55 से 56 किमी का मार्ग निकलना प्रस्तावित होंगे. बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे से जनपद के लिए कुल 28 ग्राम प्रभावित होंगे. जिसमें मुख्य रूप से तहसील राठ और तहसील मौदाह शामिल है. हालांकि इसमें तहसील सरीला के भी कुछ ग्राम इस योजना में शामिल है.

भूमि रिकॉर्ड में खातेदारों और सह खातेदारों की जाँच कर ली जाए- जिलाधिकारी

जिलाधिकारी का कहना है कि इन ग्रामों की लिस्ट लेकर सभी ग्रामों के भूमि रिकॉर्ड और उनके खातेदारों और सह खातेदारों के डाटा मिलान कर सूची यूपीडा को उपलब्ध करा दिया. उन्होंने कहा है कि भूमि रिकॉर्ड में खातेदारों और सह खातेदारों की जाँच कर ली जाए. आपको बता दें कि भूमि अधिग्रहण कार्य से संबंधित जिला स्तर पर एडीएम नोडाल अधिकारी होंगे. तहसीलों में संबंधित तहसील के उपजिलाधिकारी होंगे.

यह भी पढ़ें:  महोबा-फॉर्मासिस्ट एसोसिएशन ने 10 दिसंबर से अनिश्चितकालीन हड़ताल का लिया निर्णय