दुनियाभर में मशहूर मैगी के दीवानों के लिए एक खुशखबरी, पढ़ें पूरी खबर

0

नई दिल्ली: दुनियाभर में प्रदूषण का कहर हर तरफ देखने को मिल रहा है. इस जहरीली वायु से सभी लोग परेशान क्योंकि इससे सेहत पर काफी नुकसान पड़ रहा है. वहीं इस कड़ी में प्लास्टिक भी काफी मुख्य रोल निभा रहा है क्योंकि प्लास्टिक आसानी से खत्म नहीं होता और इससे बेहतर है कि इसे रिसाइकिल किया जाए.

फूड कंपनी नेस्ले इंडिया ने प्रदूषण को ध्यान रखते हुए एक नई स्कीम तैयार

बता दें कि इस बढ़ते प्रदूषण को मध्य नजर रखते हुए देश की सबसे बड़ी फूड कंपनी नेस्ले इंडिया ने अपने फ्लैगशिप ब्रांड मैगी के लिए एक नई स्कीम तैयार की है. अब उपभोक्ता मैगी नूडल्स के 10 खाली पैकेट ले जाकर दुकान में देकर एक पैकेट मैगी मुफ्त में पा सकते है. बहरहाल, नेस्ले मैगी द्वारा ये शानदार स्कीम देहरादून और मसूरी में शुरू की गई है. जल्द ही ये बाकी शहरों में भी शुरू की जा सकती है.

पायलट प्रोजेक्ट के अनूरूप देहरादून और मसूरी में ये स्कीम शुरू किया गया

नेस्ले इंडिया के प्रवक्ता ने बताया है कि इसे पायलट प्रोजेक्ट के अनूरूप देहरादून और मसूरी में शुरू किया गया है. ये ही नहीं इस क्षेत्र के लगभग 250 रिटेलर्स इसका फायदा दे रहें है. इस मुख्य मुहीम का मकसद प्लास्टिक कचरे में कमी लाना है. गति फाउंडेशन और उत्तराखंड एनवायरमेंट प्रोटेक्शन एंड पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड की जॉइंट स्टडी के मुताबिक, पिछले साल उत्तराखंड में सबसे अधिक प्लास्टिक कचरा फैलाने वालों में मैगी के सात लेज चिप्स, पेप्सिको और पारले की फ्रूटी जैसे मुख्य ब्रांड्स का नाम शामिल था. उपभोक्ता इनके ब्रांड्स के खाली पैकेट को कूड़ेदान में डालने के जगह सड़क या आस पास फेंक देते थे.

 इन-इन राज्यों में प्लास्टिक के उपयोग में प्रतिबंध लगाई 

नेस्ले के प्रवक्ता ने आगे कहा है कि हमें इस मुहीम द्वारा पूरा विश्वास है कि इससे उपभोक्ताओं का व्यवहार आवश्यक ही बदलेगा और उन्हें निश्चित ही कचरे को डस्टबिन में डालने की जिम्मेदारी का भी अहसास होगा. बता दें कि गुजरात, तमिलनाडु, महाराष्ट्र और उत्तराखंड पहले ही प्लास्टिक के उपयोग में प्रतिबंध लगा चुका है. इसके चलते काफी कंपनियों ने प्लास्टिक का प्रयोग करना कम तक कर दिया है. ये ही नहीं कोका कोला, पेप्सिको और बिसलेरी ने जुलाई में महाराष्ट्र में बेची जाने वाली बॉटल्स पर बायबैक वैल्यू छापना शुरू तक कर दिया था. आपको बता दें कि सितंबर 2018 में खत्म तिमाही में नेस्ले की घरेलू बिक्री 17.5 पर्सेंट बढ़कर 2,749.5 करोड़ रुपये हो चुकी है. कंपनी ने अपनी मार्केटिंग एक्टिविटीज को भी बढ़ा दिया है.