अगर आपकी नींद रात में अचानक उचटती है तो जाने इसका क्या है मतलब

0
अनिद्रा की समस्या
अनिद्रा की समस्या

नींद बहुत ही जरूरी है। एक युवा व्यक्ति को शरीर को चार्ज करने के लिए 6-8 घंटे की नींद की आवश्यकता होती है। इस तेजी से भागती दुनिया में, नींद के महत्व को कम आंका जा रहा है। काम पर ध्यान केंद्रित करते हुए हमें शरीर को उचित आराम प्रदान करना चाहिए। ऐसा देखा गया है कि लोग रात के बीच में अचानक से जाग जाते हैं और यह अक्सर होता है तो यह नींद की गड़बड़ी है इससे कई लोग पीड़ित हैं। अगर रात में इस तरह से लोग अचानक जाग जाते हैं और यह नियमित हो रहा है तो संभवतः आपका शरीर ठीक नहीं है।

नींद उचटने के पीछे कुछ कारण बताए गए हैं।

Install Kare Flipcart App aur Paaye Rs.500 PayTm Par Turant

1- आप टेंशन में सो रहें है

जो लोग टेंशन में रहते हैं वे आमतौर पर रात में एक शांतिपूर्ण नींद लेने में विफल रहते हैं। एक अन्य मामले में खराब नींद का उचटना टेंशन को और बढ़ाता है। कुछ ऑनलाइन रिसर्च के मुताबिक नींद का उचटना और मनोरोग संबंधी विकार आपस में जुड़े होते हैं। आपकी नींद तनाव और चिंता से प्रभावित होती है।

2- जो दवाएँ आप ले रहे हैं, वे जागने का कारण हैं

कुछ दवाओं के सेवन से नींद में खलल पड़ता है क्योंकि उनके इफ़ेक्ट हमारे शरीर के आंतरिक कार्यप्रणाली पर पड़ता है। जो लोग नियमित रूप से एंटीडिप्रेसेंट, डीकॉन्गेस्टेंट, हार्ट की दवाइयाँ लेते हैं, उनमें नींद न आने की समस्या सबसे अधिक होती है। इस अवस्था को दवाई-प्रेरित-अनिद्रा कहा जाता है।

3- हार्ट का ठीक न होना

आपकी नींद और आपके दिल की सेहत का गहरा संबंध है। अवरुद्ध धमनियों से संबंधित एथेरोस्क्लेरोसिस नामक एक सिचुएशन है जो नींद को प्रभावित करती है। अगर आपकी धमनी में रुकावट होती है तो आपकी नींद अचानक उचट जाती है।

4- भूख लग जाना

यह कहा जाता है कि आपको रात का भोजन 7 या 8 बजे तक खा लेना चाहिए, नहीं तो आप आधी रात में भूख जाग सकते है। लंबे समय तक उपवास या भोजन न करना आपके शरीर के रक्तचाप को कम कर सकता है यही कारण है कि यह अपर्याप्त ऊर्जा के कारण बेचैन हो जाते हैं। 8 बजे के बाद भारी भोजन न करें, लेकिन अपने आप को भूखा न रखें।

5- आपका मस्तिष्क कम नींद वाले स्पिंडल का उत्पादन कर रहा है

जो लोग रात में ज्यादा आराम और शांति से सोते हैं उनका दिमाग ज्यादा काम करता है। वहीं जिन लोगो की नींद अचानक उचट जाती है उनका दिमाग ज्यादा काम नहीं करता है। शांत और भरपूर नींद आने के लिए दिमाग का ज्यादा काम करना जरूरी होता है। यदि आप रात में सोने में परेशानी का सामना कर रहे हैं, तो यह खराब मस्तिष्क की गतिविधि के कारण हो सकता है।

6- आप विज़ुअली क्रिएटिव हैं

रात में नींद का उचटना एक तरह से उन लोगो के लिए फायदेमंद है जो क्रिएटिव होते हैं लेकिन यह स्वास्थ के लिए नुकसानदायक होता है। क्रिएटिव माइंड वाले लोग कम सोते हैं। चूंकि उनका दिमाग बहुत रचनात्मक विचारों में लिप्त होता है, इसलिए उनके लंबे समय तक सोना बहुत मुश्किल होता है।

7- अंधेरे से डर

बहुत सारे लोग नक्टोफोबिक हैं या अंधेरे और / या उन्हें अंधेरे एटमॉस्फियर का डर होता है। इस तरह के लोग जब रोशनी बंद हो जाती है या जब चारों ओर पूरा अंधेरा छा जाता है तब उन्हें नींद नहीं आती है।

यह भी पढ़ें: जिम करने के तुरंत बाद न करे ऐसा काम सेहत को हो सकता है नुकसान

यदि आप रात में नींद न आने पर भी दिन में भी आपको नींद नहीं आती है तो आप जल्द से जल्द एक डॉक्टर से मिलें, क्योंकि ऐसी समस्या के कुछ आंतरिक कारण हो सकते हैं।