निर्भया केस के चारों दोषियों को 22 जनवरी को दी जायेगी फांसी

0
निर्भया केस
निर्भया केस

निर्भया कांड के चार दोषियों को 22 जनवरी को सुबह 7 बजे फांसी दी जाएगी। दिल्ली की एक अदालत ने मंगलवार को यह आदेश जारी किया।

अक्षय ठाकुर सिंह, मुकेश, पवन गुप्ता और विनय शर्मा को 2012 में दिल्ली में एक युवा मेडिकल छात्रा के साथ सामूहिक बलात्कार, अत्याचार और हत्या का दोषी पाया गया था।

पिछले महीने सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में अंतिम समीक्षा याचिका को खारिज कर दिया। यह समीक्षा याचिका बलात्कारी अक्षय सिंह द्वारा दायर की गई थी।

निर्भया के माता-पिता ने तब निचली अदालत से डेथ वारंट जारी करने के लिए कहा, लेकिन अदालत ने आज तक के फैसले को टाल दिया था। आख़िरकार फैसले की घड़ी आयी और दोषियों को फांसी की सजा देने का एलान हो गया।

दोषियों को 22 जनवरी को सुबह 7 बजे फांसी दी जाएगी।

सुप्रीम कोर्ट ने चार दोषियों में से एक को मौत की सजा की पुष्टि की। दोषी अक्षय की समीक्षा याचिका को सुप्रीम कोर्ट ने पहले भी रद्द कर दिया था। आपको ाब्ता दें कि इन दोषियों को 2017 में ही फांसी की सजा सुना दी गयी थी लेकिन अब जाकर इंसाफ हुआ है।

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि समीक्षा याचिका “बार-बार अपील की फिर से सुनवाई” नहीं की जा सकती है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि गुनाह इतना घिनौना था कि सके लिए फांसी की सजा ही सही रहेगी

18 दिसंबर के फैसले के साथ, चारों मौत की सजा के दोषियों की समीक्षा याचिकाएं खारिज हो गईं। पिछले साल 9 जुलाई को शीर्ष अदालत ने अन्य तीन दोषियों – मुकेश (32), पवन गुप्ता (25) और विनय शर्मा (26) द्वारा दायर की गई याचिका को खारिज कर दिया था।