आते ही राफेल ने बटोरी सुर्खियां

0
11
11

राफेल भारत आ चुका है और,आते ही विवादों का पात्र भी बनगया ,रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने फ्रांस में विधि विधान के साथ राफेल की पूजा की , इस दौरान राफेल पर नारियल चढ़ाया, ‘ऊँ’ का निशान बनाया और राफेल के पहियों के नीचे नींबू भी रखा गया। जब कभी भी किसी नयी चीज़ का शुभारंभ होता है तो हिन्दू रिवाज़ के मुताविक उसका इस तरीके से स्वागत होता है। इस पर भी इतनी सियासत क्यों ?

राफेल को भारत लाने में इतनी जद्दोजहद हुई , जब भी भारत में राफेल का नाम उठता तो विपक्ष सरकार हर किसी का इसमें एक अपना ही तर्क सामने आता है। कांग्रेस नेता संदीप दीक्षित ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह द्वारा राफेल विमान रिसीव करने पर ही सवाल कर दिया, उन्होंने कहा कि आखिर इसे रक्षा मंत्री ने क्यों रिसीव किया, ये काम वायुसेना ही कर सकती थी. उन्होंने कहा कि ये सिर्फ एक नया लड़ाकू विमान ही है जो हमें मिल रहा है ।

राफेल विमान पर नींबू पर उन्होंने कहा कि विजयादशमी और राफेल विमान की जोड़ी मैच नहीं खाती है. संदीप दीक्षित बोले कि दशहरा एक त्योहार है, जिसे हम सभी मनाते हैं, लेकिन आप इसे आने वाले एयरक्राफ्ट से क्यों जोड़ रहे हैं. इस सरकार के साथ यही दिक्कत है कि काम करने के साथ नाटक ज्यादा किया जाता है ।

संदीप दीक्षित दिल्ली की पूर्व मुख़्यमंत्री शीला दीक्षित के सुपुत्र है उनकी तरफ से ऐसे तर्क की आशा नहीं थी।

इस बात से विपक्ष भी इंकार नहीं कर सकता की राफेल आने से भारत के वायुसेना को कितना फायदा पुहंचेगा ,राफेल आने से भारत के दुश्मन मुल्ख सहम गये है। इसके आने से देश की ताक़त में वृद्धि होगी, हमारे दुश्मन भारत पर आँख उठाने से पहले कई बार सोचेंगे। उस पर ऐसे निराधार बयान की काफी निंदा की जाती है।

यह भी पढ़ें:  इमरान खान की सऊदी के शहजादे ने इस बार की ऐसी बेइज्जती कि…

ना सिर्फ कांग्रेस बल्कि राफेल की इस शस्त्र पूजा ने सोशल मीडिया पर भी एक नई बहस को जन्म दे दिया है. सोशल मीडिया पर लोग लिख रहे हैं कि ऐसा पहली बार ही हुआ है जब दुनिया ने ऐसा कुछ देखा हो, या फिर कुछ लोगों ने लिखा कि भारत ने आखिरकार राफेल को देसी बना दिया. इसके अलावा राफेल के नींबू-नारियल पर कई मीम भी बन रहे हैं ।

देश में ऐसे बहुत से मह्त्वपूर्ण मसलें है जिनपर बात होनी जरुरी है और सरकार का ध्यान आकर्षित करना चाहिए, राफेल की पूजा करने से या नींबू रखने के मुद्दे को इतनी हवा देना सरा सर गलत है, चाहे सरकार हो या विपक्ष सभी को देश की उन्नति के लिए प्रयास करना चाहिए। इन्ही प्रयासों से भारत दुनिया में अपनी एक अलग पहचान बनाने में सक्षम होगा।