फ्लोर टेस्ट से पहले उद्धव सरकार का सीटों का गणित

0
shivsena
shivsena

शिवसेना को सहयोग करने के लिए राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी), कांग्रेस के अलावा छोटी पार्टी ने भी अपना हाथ बढ़या है। महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे), सीपीआई-एम, किसान और वर्कर्स पार्टी ऑफ इंडिया (पीडब्लूपी), बहुजन विकास अघाड़ी, स्वाभिमानी शेतकारी संगठन के विधायक भी उद्धव सरकार के पक्ष में वोट करेंगे।

छोटे दलों के साथ आने से महा विकास अघाड़ी को समर्थन करने वाले विधायकों का आंकड़ा 171 तक पहुंच गया है. इसमें शिवसेना के 56, एनसीपी के 54, कांग्रेस के 44, सपा के 2, स्वाभिमानी शेतकारी के एक, बहुजन विकास अघाड़ी के 3 और निर्दलीय 8 विधायक हैं. इसके अलावा एमएनएस, पीडब्लूपी और सीपीआई के एक-एक विधायक भी उद्धव सरकार को वोट देंगे. हालांकि, स्पीकर वोट नहीं कर पाएगा. इसलिए सरकार के पक्ष 170 वोट पड़ सकते हैं।

उद्धव सरकार विधानसभा में फ्लोर टेस्ट साबित करना है। लेकिन बहुमत का टेस्ट होने से पहले कांग्रेस की तरफ से नयी डिमांड आई है।

यह भी पढ़ें : महाराष्ट्र में पलटी बाजी , अब बनेगी ठाकरे की सरकार

कांग्रेस ने ऐन मौके पर डिप्टी सीएम की मांग कर दी है. कांग्रेस चाहती है कि राज्य में एनसीपी के अलावा उनकी पार्टी का भी डिप्टी सीएम हो. हालांकि कांग्रेस विधायक विजय वाडेत्तिवार ने कहा कि विश्वास प्रस्ताव में हमें 168 से ज्यादा वोट मिलेंगे।