JNU में हुई हिंसा, छात्र हुए गंभीर रूप से घायल

0

दिल्ली की जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी एक बार फिर सुर्खियों में है। जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी में देर रात कुछ नकाबपोश ने छात्रों-फैकल्टी मेंबर पर हमला कर दिया। जिसमे करीब 22 से 25 स्टूडेंट्स की घायल होने की खबर है और उन्हें AIIMS के अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जहां पहले बढ़ती फीस के कारण से जेएनयू विवाद का पात्र बना हुआ था। वही दूसरी तरफ जेएनयू कैंपस में हुए हिंसा में स्टूडेंट्स को शिकार बनाया गया।

कैंपस की संपत्ति को भी हमलावर द्वारा काफी नुकसान पहुंचाया गया। जिसके बाद प्रशासन ने पुलिस को इस घटना की खबर दी , इस हमले में जेएनयू छात्र संघ की अध्यक्ष आइशी घोष को भी गंभीर चोटआयी है। जेएनयूएसयू की ओर से आइशी के सिर से खून निकलने की फोटो भी जारी की गई थी।


खबर यह है की शनिवार को जेएनयू छात्र संघ ने सर्वर रूम को लॉक कर दिया था. इसे लेकर एबीवीपी और लेफ्ट विंग के स्टूडेंट्स में झड़प होगई। रविवार को जेएनयू छात्र संघ की ओर से साबरमती हॉस्टल से मार्च निकाला जाना था. इस दौरान यहां हिंसा हुई. इस घटना के प्रश्चात कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी घयाल छात्रों से मिलने AIIMS पहुंची ,वही इस घटना से बकि यूनिवर्सिटी के छात्र इतने भड़के हुए है की दिल्ली यूनिवर्सिटी समेत कई विश्वविद्यालयों के छात्र दिल्ली पुलिस मुख्यालय के बाहर प्रदर्शन करने पहुंचे।

वहीं, यह भी खबर है की जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय में हुई हिंसा के बाद दिल्ली पुलिस के जनसम्पर्क अधिकारी (पीआरओ) एम. एस. रंधावा ने छात्रों और शिक्षकों के एक प्रतिनिधिमंडल के साथ बैठक की. पुलिस द्वारा कुछ हमलावरों की पहचान भी कर ली गई है. अभी फिलाल यह पूरा मामला क्राइम ब्रांच को सौंप दिया गया है , जेएनयू प्रशासन से सीसीटीवी फुटेज की भी मांग की गई हैं.दिल्ली पुलिस ने जेएनयू हिंसा में पब्लिक प्रॉपर्टी डैमेज एक्ट और दंगे फैलाने की धारा के तहत दिल्ली पुलिस ने मामला दर्ज किया है।

जेएनयू के छात्रों के अनुसार शाम को प्रोटेस्ट था. काफी लोग गोदावरी बस स्टैंड के पास इकट्ठा हुए, उसी दौरान मारा-मारी शुरू हो गई. यह भी बयान सामने आया की पहले कुछ नकाबपोश हमलावर यूनिवर्सिटी के कैंपस में घुसे उसके बाद लगातार हमला किया, तोड़फोड़ की. इस दौरान कई छात्र, फैकल्टी घायल हो गए।

वहीं, जेएनयू कैंपस में हुए इस घटना पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपनी प्रतिक्रिया प्रकट करते हुए ट्वीट किया की जेएनयू में हुई हिंसा को जानकर मैं बहुत हैरान हूं. छात्रों पर बुरी तरह से हमला किया गया. पुलिस को तुरंत हिंसा को रोक शांति बहाल करनी चाहिए. अगर हमारे छात्र यूनिवर्सिटी के कैंपस में सुरक्षित नहीं रहेंगे, तो देश कैसे तरक्की करेगा?

यह भी पढ़ें : 23 साल की उम्र में UPSC किया क्लियर, अब BSF में होगी तैनाती

दिल्ली की यूनिवर्सिटी देश ही नहीं विदेश में भी काफी प्रशिद्ध है जेएनयू जैसी नामी यूनिवर्सिटी ने देश को चाहे ब्यूरोक्रेट की बात की जाए या फिर बॉलीवुड के नामी हस्ती जेएनयू से बहुत से महान हस्ती पढ़ कर निकले है। अब यही जेएनयू हिंसा, और विवाद का शिकार बन रहा जो कही न कही उसकी छवि को प्रभावित कर रहा है।