कांग्रेस के मुख्य पोस्टर से सिंधिया गायब

0

भोपाल। मध्य प्रदेश  के विधानसभा चुनाव के दौरान मंच का संभवतः ऐसा केई भी पोस्टर नहीं रहा, जिसमें प्रदेषाध्यक्ष कमलनाथ के साथ प्रचार अभियान समिति अध्यक्ष ज्येतिरादित्य सिंधिया की तस्वीर नजर न आई हो, मगर कांग्रेस उम्मीदवारों की गुरुवार को हुई भोपाल बैठक में सिर्फ कमलनाथ छाए हुए थे। मुख्य पोस्टर पर सोनिया गांधी, राहुल गांधी के अलावा कमलनाथ की तस्वीर थी।

कांग्रेस ने मतगणना के लिए सभी उम्मीदवारों और उनके एजेंटों को प्रशिक्षण  देने के मकसद से भोपाल के मानस भवन में बैठक बुलाई। इस बैठक के मुख्य मंच पर जो पोस्टर लगा था, उसमें ज्योतिरादित्य सिंधिया की तस्वीर गायब थी।

 

उम्मीदवारों की इस बैठक को राजनीतिक विश्लेषक पार्टी के भीतर चल रही रस्साकषी के बीच शक्ति प्रदर्शन के तौर पर देख रहे हैं। ऐसा इसलिए क्येंकि इस बैठक में पूरी तरह कमलनाथ छाए हुए है, कई उम्मीदवार भी पार्टी के सत्ता में आने पर कमलनाथ के मुख्यमंत्री बनाए जाने की खुले तौर पर पैरवी कर रहे है। यही कारण है कि, इस बैठक को कमलनाथ के षक्ति प्रदर्षन के तौर पर देखा जा रहा है।

कांग्रेस के सूत्रों का कहना है कि, कमलनाथ ने इस बैठक में उम्मीदवारों को साफ संकेत देने की कोषिष की है कि, कांग्रेस एकजुट है, मगर मंच से यह जाहिर हुआ कि, कांग्रेस बटी हुई है। कमलनाथ स्वयं अपने मुख्यमंत्री बनने की संभावनाओं को नकार नहीं रहे है। कहीं मुस्कुराकर तो कभी सिर हिलाकर अपनी बात कह रहे है। वे सिर्फ इषारों में अपने मुख्यमंत्री बनने की संभावनाओं को नहीं नकारते।

कांग्रेस के मंच के पोस्टर से सिंधिया की तस्वीर के गायब होने पर पार्टी के भीतर ही अभी से जिरह तेज हो गई है। मतगणना हुई नहीं, नतीजे आए नहीं और कांग्रेस में सूत न कपास जुलाहों में लटठम-लटठ हो चला है।