PNB फ्रॉड: मेहुल चोकसी के प्रत्यर्पण केस में भारत को मिली बड़ी कामयाबी

0
https://news4social.com/?p=50444

पंजाब नेशनल बैंक को हजारों करोड़ रुपए का चूना लगाने वाले भगोड़े आभूषण कारोबारी मेहुल चोकसी पर शिकंजा कसता जा रहा है। भारत सरकार के दबाव के आगे एंटीगुआ सरकार झुक गई है और वह चोकसी को दी हुई अपनी नागरकिता खत्म करने पर सहमत हो गई है।

मेहुल चोकसी फरार होने के बाद एंटीगुआ पहुंचा था और वहां की नागरिकता हासिल करने में सफल हो गया था। तब से भारत की जांच एजेंसियां उसे भारत लाने की कोशिशों में लगी हैं। एंटीगुआ के प्रधानमंत्री गैस्टन ब्राउन चोकसी की नागरिकता रद्द करने पर राजी हो गए हैं।

एंटीगुआ के प्रधानमंत्री ने कहा है कि उनका देश वित्तीय अपराध में शामिल अपराधियों को सुरक्षित पनाहगान देने नहीं जा रहा है। उन्होंने कहा है कि सभी कानूनी प्रक्रियाएं पूरी होने के बाद चोकसी को भारत प्रत्यर्पित किया जा सकेगा।

उन्होंने कहा, ‘चोकसी नागरिकता पाने में सफल हो गया। हमारे पास इसका उपाय भी है। वास्तविकता यह है कि उसकी नागरिकता रद्द होगी और उसे भारत को प्रत्यर्पित किया जाएगा।’

एंटीगुआ के प्रधानमंत्री ने कहा, ‘यह मामला अभी कोर्ट के समक्ष है इसलिए हमें कानूनी प्रक्रिया की अनुमति देनी होगी। हमने भारत सरकार को सूचित किया है कि अपराधियों का भी मौलिक अधिकार होता है और चोकसी भी अपना बचाव करने के लिए कोर्ट जाने का अधिकार रखता है। मैं आपको भरोसा देता हूं कि चोकसी द्वारा अपने सभी कानूनी विकल्पों को आजमा लेने के बाद उसे भारत को प्रत्यर्पित किया जाएगा।’

यह भी पढ़ें: मंगल ग्रह पर मिली ऐसी चीज़ कि जीवन की संभावनाएं हुई तेज

गौरतलब है कि मेहुल चोकसी का भांजा नीरव मोदी भी PNB से फ्रॉड के मामलें में ब्रिटेन में शरण लिए हुए है। भारतीय एजेंसियों द्वारा UK में प्रत्यपर्ण पर नीरव मोदी ने UK की कोर्ट में याचिका दायर की थी, जोकि UK की कोर्ट ने दो बार रद्द कर दी।