सुप्रीम कोर्ट में आज हुई शाहीन बाग प्रदर्शन पर सुनवाई

supreme court
supreme court

काफी लंबे समय से देश में जगह- जगह CAA के विरोध में प्रदर्शन हो रहे हैं. नागरिकता संशोधन एक्ट (CAA) के खिलाफ दिल्ली के शाहीन बाग में पिछले दो महीने से जारी प्रदर्शन को लेकर आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई. सुनवाई में सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि शाहीन बाग में CAA के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे प्रदर्शनकारियों का पक्ष जानने के लिए दो वार्ताकार नियुक्त किया.सुप्रीम कोर्ट ने वरिष्ठ अधिवक्ता संजय हेगड़े और साधना रामचंद्रन को प्रदर्शनकारियों से बात करने के लिए नियुक्त किया.इस मामले की अगली सुनवाई अगले सोमवार को होगी.


सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि हमारी चिंता ये है कि लोकतंत्र में हम विरोध तो कर सकते हैं लेकिन यदि हर कोई सड़को पर उतरने लगा तो क्या होगा ? इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि विरोध किजिए लेकिन इससे आम जन-जीवन प्रभावित नहीं होना चाहिए. विरोध के लिए आप आम लोगों के जीवन को प्रभावित करने का हक नहीं रखते है.


सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई में ये भी कहा कि प्रदर्शनकारियों ने अपनी बात रखी है और शाहीन बाग का विरोध प्रदर्शन काफी समय से चला रहा है। प्रदर्शनकारियों से बात करके कोई बीच का रस्ता निकालना चाहिए. यदि कुछ भी काम नहीं करता है, तो हम स्थिति से निपटने के लिए हम अधिकारियों को छोड़ देंगे। लोकतंत्र में विरोध कर सकते हैं लेकिन आम लोगों को परेशानी नहीं होनी चाहिए.

यह भी पढ़ें: CAA के विरोध में चेन्नई तक पहुंचा प्रदर्शन

इस केस की अगली सुनवाई 24 फरवरी को होगी.