पितृ पक्ष में भगवान का पूजन करना चाहिए या नहीं ?

0
560
पितृ पक्ष
पितृ पक्ष

पितृ पक्ष में भगवान का पूजन करनी चाहिए या नहीं ? ( God should be worshiped in Pitru Paksh or not )

पितृ पक्ष में भगवान की पूजा करनी चाहिएं या नहीं करनी चाहिए. लोगों के मन में इस बात को लेकर भ्रम की स्थिति होती है. इस सवाल का जवाब जानने से पहले पितृ पक्ष के बारें में कुछ बाते जान लेते हैं. पितृ पक्ष भादो या भाद्रपद महीने की अमावस्या शुरू होते हैं तथा इसके अगले 15 दिनों तक रहते हैं. इन 15 दिनों के समय को पितृपक्ष कहा जाता है. इसके साथ ही इसका दूसरा नाम इसे श्राद्ध पक्ष भी कहा जाता है. ऐसी मान्यता है कि इस समय के दौरान हमारे पूर्वज धरती पर आते हैं और 15 दिनों तक धरती पर ही वास करते हैं. इसी कारण इनका महत्व बहुत बढ़ जाता है.

download 3 1 -
पितृ पक्ष

क्या पितृ पक्ष अशुभ होते हैं ?

कुछ लोगों का मानना होता है कि पितृ पक्ष अशुभ होते हैं. इस दौरान हमें कोई भी अच्छा कार्य शुरू नहीं करना चाहिएं. कुछ लोगों द्वारा ऐसा माना जाता है कि उस समय उन वस्तुओं में प्रेत का अंश होता है. इसलिए अगर श्राद्ध पक्ष में अगर शुभ कार्य किया जाता है तो उस कार्य का कोई फल नहीं मिलता है बल्कि दुखों का भोग करना पड़ता है. अगर हिन्दू शास्त्रों में देखा जाए तो कहीं भी ये नहीं लिखा गया है कि श्राद्ध पक्ष में शुभ कार्य नहीं करना चाहिए. ऐसे में श्राद्ध पक्ष को कहीं से अशुभ मानना उचित नहीं है.

download 4 1 -
पितृ पक्ष

क्या भगवान की पूजा कर सकते हैं ?

ऐसी मान्यता है  कि जब हम कोई भी शुभ कार्य करते हैं, उससे पहले भगवान श्री गणेश की पूजा करनी चाहिए.  जब श्राद्ध पक्ष शुरू होने से पहले भगवान गणेश की पूजा करते हैं तो पितृ पक्ष को अशुभ कैसे कहा जा सकता है.

यह भी पढ़ें: भगवान राम ने किसकी सलाह पर सुग्रीव से दोस्ती की थी ?

पितृ पक्ष में भी हम भगवान की पूजा कर सकते हैं. दूसरे कारण की बात करें, तो हमारे पूर्वज ऐसा कभी नहीं चाहेगें कि उनके बच्चे भगवान की पूजा ना करें या फिर किसी शुभ काम की शुरूआत ना करें.

Today latest news in hindi के लिए लिए हमे फेसबुक , ट्विटर और इंस्टाग्राम में फॉलो करे | Get all Breaking News in Hindi related to live update of politics News in hindi , sports hindi news , Bollywood Hindi News , technology and education etc.