रुस से तनाव के बीच अमेरिका ने यूक्रेन में भेजा अपना निगरानी विमान

0

अमेरिका और रुस के बीच चली आ रही कई सालों की तनातनी के बारे में अक्सर ख़बरे आती रहती है। लेकिन एक नया ताजा घटनाक्रम सामने आया है, इस घटनाक्रम में युक्रेन में बिगडते हालत को संभालने के लिए अमेरिका नें अपना निगरानी विमान को युक्रेन में भेजा है ताकि वहां पर रुस की गतिविधियों पर अमेरिका नज़र बनाए रखे।

इस वजह से उठाया है अमेरिका नें यह कदम

आपको बता दें अमेरिका नें यह कदम इसलिए उठाया है, क्योंकि रुस नें कुछ दिन पहले अजोव सागर में यूक्रेन के तीन नौसेन्य पोतों पर कब्जा करके उसके 24 नाविकों को हिरासत में ले लिया था। इसलिए अमेरिका नें यूक्रेन के कीव शहर में अपना निगरानी विमान भेजा है।

2014 के बाद पहली बार यूक्रेन मुद्दे पर आमने-सामने है अमेरिका और रुस

आपको बता दें की इससे पहले सन 2014 में रुस और अमेरिका यूक्रेन के मुद्दे पर आमने सामने हो गए थे। उस वक्त भी दोनों देशों के बीच हालत ख़राब हो गए थे। हाल ही में घटी घटना पर अमेरिका नें अपना रुख साफ़ करते हुए कहा है की अमेरिका और उसके सहयोगियों के एक विमान ने आज मुक्त आकाश संधि के तहत एक असाधारण उड़ान भरी। जिसका मकसद यूक्रेन और दूसरे साथी देशों से किए गए वादों को निभाना है।