बाब गुरमीत राम रहीम को जाना होगा जेल?

0

डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह के खिलाफ चल रहे साध्वी यौन शोषण मामले में 25 अगस्त को फैसला आना है। फैसला पंचकूला सीबीआइ कोर्ट सुनाएगी। इसके मद्देनजर प्रशासन जहां पर्याप्त चौकसी बरत रहा है, वहीं डेरा प्रेमी पंचकूला में एकत्र होने शुरू हो गए हैं।

डेरा प्रेमी मंगलवार देर रात से शहर में धारा 144 लागू होने के बावजूद सेक्टर 23 स्थित नाम चर्चा घर व आसपास के इलाके में डटे हैं। इनकी संख्या करीब 50 हजार से ज्यादा है। अभी डेरा प्रेमियों के आने का क्रम जारी है। डेरा प्रेमी न जुटें इसके लिए सीमाएं सील कर दी गई हैं। पंजाब के बठिंडा, मानसा, संगरूर, पटियाला व बरनाला को भी संवेदनशील घोषित किया गया है।

मामले की गंभीरता को देखते हुए चंडीगढ़, पंजाब और हरियाणा में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। पंजाब, हरियाणा व चंडीगढ़ की सीमाएं सील कर धारा 144 लगा दी गई है। स्थिति पर नजर रखने के लिए ड्रोन व हेलीकॉप्टर से रेकी के निर्देश दिए गए हैं। चंडीगढ़ के सेक्टर 16 के क्रिकेट मैदान को अस्थायी जेल में बदला गया है। जरूरत पडऩे पर अन्य स्टेडियमों को भी अस्थायी जेल बनाया जा सकता है।

दूसरी ओर चंडीगढ़ व पंजाब में 641 अधिकारियों को मजिस्ट्रेट की शक्तियां दी गई हैं। इनमें सर्वाधिक 140 अधिकारी अमृतसर और 92 अधिकारी लुधियाना से हैं। चंडीगढ़ में 21 अधिकारियों को यह शक्ति दी गई है। मंगलवार को पंजाब के विभिन्न जिलों में रैपिड एक्शन फोर्स, पुलिस व पैरामिलिट्री फोर्स के जवानों ने फ्लैग मार्च निकाला। डीजीपी पंजाब सुरेश अरोड़ा ने बठिंडा-हरियाणा सीमा का जायजा लिया। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी पुलिस अधिकारियों से बैठक कर उन्हें जरूरी निर्देश दिए।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

one × 1 =