बिहार: तेजस्वी यादव ने कहा ‘लालू में ऐसा क्या है जो लोग उनसे मिलने को आतुर हैं’

0

बिहार की सत्ता के सबसे लोकप्रिय नेता लालू यादव के जेल जाने के बाद उनके बेटे और राजनीतिक उत्तराधिकारी तेजस्वी यादव ने पार्टी की कमान संभाल ली है. चारा घोटाले में साड़े 3 साल की सज़ा झेल रहे लालू यादव से उनके समर्थक मिलने के लिए आतुर हैं. इसी बीच बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री और विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमले तेज़ कर दिए हैं. उन्हें जब भी मौक़ा मिलता है वो इन दोनों नेताओं की आलोचना करने का कोई न कोई तरीका ढूंढ ही लेते हैं.

ट्वीट करके ज़ाहिर किया गुस्सा

इस बार तेजस्वी ने जेल में बंद लालू यादव से पार्टी समर्थकों एवं नेताओं को नहीं मिलने दिए जाने का आरोप लगाते हुए पीएम और सीएम पर निशाना साधा है. जदयू नेता तेजस्वी ने कहा कि लालू यादव की लोकप्रियता पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और प्रधानमंत्री मोदी को शोध करना चाहिए. एक ट्वीट में उन्होंने लिखा कि, ‘’आदरणीय लालू जी जेल में बंद हैं, उनके चाहने वाले को मिलने नहीं दिया जा रहा है फिर भी प्रतिदिन हजारों की संख्या में उनसे मिलने वालों का तांता जेल के बाहर क्यों लगा रहता है? ऐसा क्या है लालू जी में? नीतीश कुमार और उनके आका मोदी को इस पर शोध करना चाहिए.”

पिता से पहली बार मिले तेजस्वी

बता दें कि इस ट्वीट से पहले तेजस्वी यादव अपने पिता लालू प्रसाद से मिलने के लिए होटवार जेल पहुंचे थे. तेजस्वी यादव के साथ उनके पार्टी जदयू के राष्ट्रीय प्रवक्ता मनोज झा और पार्टी नेता भोला यादव भी जेल गए थे. लालू यादव की रज़ामंदी से जेलर ने तीन लोगों को मिलने की सहमति दी थी. चारा घोटाले में सज़ा पाने के बाद तेजस्वी पहली बार लालू यादव से मिले थे. मुलाकात के बाद उन्होंने आरोप लगाया की जेल मैनुअल के नाम पर खूब प्रक्रिया करवाई जाती है. लालू प्रसाद और तेजस्वी यादव की इस मुलाकात में बिहार के सियासी हालात सहित कई मुद्दों पर चर्चा हुई थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

1 × 1 =