69000 प्राइमरी शिक्षकों की भर्ती के लिए शासनादेश

0

लखनऊ – योगी सरकार ने 69000 प्राइमरी शिक्षकों की भर्ती के लिए शासनादेश जारी कर दिया है, परीक्षा के लिए ऑनलाइन आवेदन 6 दिसंबर से किए जायेंगे, 6 जनवरी को होगी भर्ती परीक्षा और 22 जनवरी को परीक्षा का परिणाम जारी किया जाएगा। शिक्षकों के तमाम प्रदर्शन के बाद सरकार ने शिक्षकों के बार में कुछ सोचा है और शिक्षकों की भर्ती का विज्ञापन जारी हुआ है।

पूर्व में शिक्षामित्रों के हाईकोर्ट में केस हार जाने के बाद शिक्षकों के लिए बड़ा चैलेंजिंग समय हो गया है उसके ऊपर से वो शिक्षक आवेदक जो उनसे ज्यादा काबिल हैं, उनसे ज्यादा डिग्री लिए हुए हैं, उनके लिए कोई जगह नहीं थी। वो पढ़ लिख कर बेरोजगार बनकर घूम रहे थे। हालाकि सरकार ने पिछली बार 68500 शिक्षकों का उद्धार किया था पर अनियमितता मामले पर हाईकोर्ट ने विराम लगा दिया था।

 

बता दें शासनादेश के अनुसार, 31 दिसंबर को प्रवेश पत्र वेबसाइट पर अपलोड कर दिए गए है. मंडल मुख्यालय की जनपदीय समिति के माध्यम से परीक्षा केंद्र निर्धारित कर इसकी सूचि सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी को 24 दिसंबर तक उपलब्ध कर दी जाएगी. सात साल के अंतराल के बाद बीएड डिग्रीधारियों को प्राथमिक स्तर की भर्ती में अवसर दिया गया है. इसमें प्राथमिक स्तर की टीईटी में सफल अभ्यर्थी हिस्सा लेंगे जिसके नतीजे चार या पांच दिसंबर को घोषित होने की पूरी कोशिश है.

इन तारीखों का रखें मुख्य ध्यान

आपको इस परीक्षा में शामिल होने के लिए कुछ तारीखों का अहम ध्यान देना होगा. आवेदन करने की आखिरी तारीख 20 दिसंबर है. प्रत्याशी आवेदन शुल्क 21 दिसंबर तक जमा कर सकेंगे. प्रिंट आउट 22 दिसंबर की शाम तक लिए जा सकेंगे. परीक्षा 6 जनवरी को होगी और उसके परिणाम 22 जनवरी को आएंगे.

बढ़ सकते है पद

जानकारी के अनुसार, पांच दिसंबर को भर्ती का विज्ञापन जारी होने तक पदों की संख्या में इजाफा हो सकता है. दरअसल, सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद शिक्षकों के पद के लिए हुआ शिक्षामित्रों का समायोजन निरस्त कर दिया था. इसके अनुसार, शिक्षकों के 1.37 लाख पद खाली हो गए थे. इन पदों को भरने के लिए मई 2018 में शिक्षक भर्ती परीक्षा हुई है. इसमें लिखित परीक्षा में 41,556 अभ्यर्थी सफल हुए, लेकिन 41,000 ने ही नियुक्ति के लिए आवेदन किया. जिसमें 27,500 पद खाली रह गए. इसके तहत बेसिक शिक्षा विभाग ने सभी जिलों में तैनात अधिकारियों से उनके यहां खाली पड़ी सीटों की जानकारी मांगी है. वहीं अगर इन खाली पदों को भर्ती  प्रक्रिया में शामिल किया गया तो सहायक अध्यापकों के करीब 93,000 पदों के लिए आवेदन मांगे जा सकते है.