प्रज्ञा ठाकुर: विपक्ष के ‘काले जादू’ के कारण हो रही है भाजपा नेताओं की मौत

Pragya Thakur
Pragya Tahkur

भोपाल से भाजपा सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने सोमवार को एक ताजा विवाद में घिर गयी। प्रज्ञा ठाकुर ने दावा किया कि विपक्ष ने भाजपा नेताओं को नुकसान पहुंचाने के लिए ‘मारक शक्ति’ यानी ‘काले जादू’ का उपयोग किया है। प्रज्ञा ठाकुर ने कहा कि पूर्व केंद्रीय मंत्रियों अरुण जेटली और सुषमा स्वराज की हालिया मौतों के पीछे ‘बुरी शक्ति’ थी ।

साध्वी प्रज्ञा ने कहा, “एक महाराज जी ने मुझसे कहा कि वह अपनी साधना (ध्यान) में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे क्योंकि भाजपा मुश्किल समय से गुज़र रही है। और विपक्ष भाजपा के कुशल नेतृत्व को नुकसान पहुंचाने के लिए काले जादू की गतिविधियों में लिप्त है।”

उन्होंने कहा, ”हमारे शीर्ष नेताओं जैसे सुषमा स्वराज, अरुण जेटली और बाबूलाल गौर यादव का एक के बाद एक निधन हो गया है। इसने मुझे सोचने पर मजबूर कर दिया, क्या महाराज जी सही नहीं थे? यह सच है कि हमारा नेतृत्व हमें असमय छोड़ रहा है।”

भाजपा के दिग्गज नेता अरुण जेटली का 24 अगस्त को और स्वराज का 6 अगस्त को निधन हो गया।

ठाकुर जेटली और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर को श्रद्धांजलि देने के लिए राज्य भाजपा कार्यालय में एक शोक सभा को संबोधित कर रही थी। 20 अगस्त को जेटली की मृत्यु हो गई थी।

जब पत्रकारों ने प्रज्ञा ठाकुर ने उनके इस बयान के बारे में पूछा तो उन्होंने इस मुद्दे पर बात करने से इनकार कर दिया।

यह भी पढ़ें: RTI के तहत हुआ खुलासा, इस मामलें में मध्य प्रदेश है सबसे पीछे

भोपाल लोकसभा सीट से कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह को हराने वाली प्रज्ञा ने इस तरह की कई विवादित बयान पहले भी दिए हैं और उनमें से कुछ के लिए उन्हें माफी भी मांगनी पड़ी है।

इससे पहले प्रज्ञा ठाकुर द्वारा महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को देशभक्त कहने के लिए चुनावों से पहले भाजपा द्वारा कारण बताओ नोटिस जारी किया गया था।

उसने यह भी दावा किया था कि 26/11 के मुंबई आतंकवादी हमलों में महाराष्ट्र एटीएस के मारे गए प्रमुख हेमंत करकरे ने उसके साथ गलत किया था तभी वह हमलें में मर गए।