Yogi Adityanath CM: योगी आदित्यनाथ को इस दिन विधायक चुनेंगे अपना नेता, अमित शाह की मौजूदगी में पूरी होगी प्रक्रिया

132

Yogi Adityanath CM: योगी आदित्यनाथ को इस दिन विधायक चुनेंगे अपना नेता, अमित शाह की मौजूदगी में पूरी होगी प्रक्रिया

लखनऊ: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव (UP Election 2022) में प्रचंड बहुमत के बाद अब सरकार गठन की कवायद को तेज कर दिया गया है। प्रदेश में नई सरकार के गठन के लिए भारतीय जनता पार्टी (Bhartiya Janata Party) के पर्यवेक्षक और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) 24 मार्च को लखनऊ आएंगे। 24 को ही योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) को विधायक दल का नेता चुना जाएगा और औपचारिक तौर पर मुख्यमंत्री पद के लिए उनकी घोषणा होगी। इससे पहले शाह लोकभवन में बीजेपी और सहयोगी दलों के विधायकों से बात करेंगे। इस दौरान उनके साथ सह पर्यवेक्षक और बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवर दास (Raghubar Das) भी मौजूद रहेंगे।

सूत्रों का कहना है कि अमित शाह विधायक दल की बैठक में ही मुख्यमंत्री के साथ डिप्टी सीएम के नामों की भी घोषणा कर सकते हैं। इससे पहले वह बीजेपी के विधायकों को संबोधित भी करेंगे। इससे पहले रविवार को यूपी, गोवा, मणिपुर में सरकार गठन के फैसले के बारे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अवगत कराया गया। प्रधानमंत्री आवास पर इससे जुड़ी बैठक हुई। बैठक में गृह मंत्री अमित शाह और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी मौजूद रहे। मणिपुर में बीरेन सिंह को ही दोबारा कमान सौंप दी गई है। उत्तराखंड और गोवा में आज विधायक दल की बैठक में सीएम चेहरे का ऐलान होने की उम्मीद है।

शाह देंगे अहम संदेश
दूसरी ओर, जब 24 मार्च को शाह यूपी पहुंचेंगे तो आने वाले पांच सालों तक बीजेपी सरकार की क्या प्राथमिकताएं होंगी? विधायकों की क्या जिम्मेदारी होगी? इस पर भी वह संदेश देंगे। इस दौरान योगी भी विधायकों को संबोधित करेंगे। उत्तर प्रदेश में बीजेपी ने इस बार के विधानसभा चुनावों में 255 सीटों पर विजय हासिल की है। वहीं, सहयोगी दलों अपना दल (एस) ने 12 और निषाद पार्टी ने 6 सीटों पर जीत हासिल की है। बीजेपी के पास कुल 273 विधायकों का समर्थन है। 24 मार्च को ही राज्यपाल आनंदी बेन पटेल सबसे बड़े दल के नाते बीजेपी को सरकार बनाने के लिए बुलाएंगी। योगी इसी दिन सरकार बनाने का दावा भी पेश कर सकते हैं।

कई नए चेहरे भी बनेंगे मंत्री
सूत्रों का कहना है कि इस बार कई नए चेहरे मंत्रिमंडल में दिखाई पड़ेंगे। इनमें से विधानसभा चुनाव में जीतकर आने वालों के अलावा कई एमएलसी भी जगह पा सकते हैं। कुछ वह नए चेहरे भी हो सकते हैं, जो अभी किसी सदन के सदस्य नहीं हैं और बीजेपी के लिए सालों से काम कर रहे हैं। कई नाम सामने आ रहे हैं। हालांकि, इस पर 24 मार्च की बैठक में आखिरी तौर पर स्थिति साफ होगी। मंत्रिमंडल का शपथ ग्रहण 25 मार्च को इकाना स्टेडियम में होगा। इससे पहले तमाम मंत्री बनने वाले नेताओं को संदेश पहुंच जाएगा।



Source link