बहादुर शाह जफर के वंशज बोले- राम मंदिर बनेगा तो पहली ईंट हमारी होगी

0
वंशज याकूब हबीबुद्दीन तुसी
वंशज याकूब हबीबुद्दीन तुसी

राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवादित मामले पर देश की सबसे बड़ी अदालत में तेजी से रोजाना सुनवाई चल रही है। इस बीच मामले के निपटारे से पहले मुगल साम्राज्य के अंतिम शासक बहादुर शाह जफर के वंशज याकूब हबीबुद्दीन तुसी ने राम मंदिर निर्माण को लेकर घोषणा की है। उन्होंने कहा, अगर अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण किया जाता है तो हमारे परिवार की तरफ से पहली ईंट लगाई जाएगी और हम मंदिर की नींव के लिए सोने की शिला दान करेंगे। 

Loading...

हाल ही में तुसी ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर उन्हें अयोध्या मामले में पक्षकार बनाने की भी मांग की थी। हालांकि तुसी की इस याचिका को कोर्ट ने अब तक स्वीकार नहीं किया है। तुसी ने कहा कि जिस जमीन को लेकर विवाद हो रहा है, उसके मालिकाना हक का कागज किसी व्यक्ति के पास नहीं है। इस स्थिति में मेरा यह अधिकार है कि मैं मुगल वंश का वंशज होने के हक से अदालत में अपना पक्ष रखूंगा।

उधर इस मामले में जयपुर और मेवाड़ के बाद अब उत्तर प्रदेश के रहने वाले भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी नरेश टिकैत ने दावा किया है कि वे राम के असली वंशज हैं। टिकैत ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट में अगर सबूत देने की जरूरत पड़ी तो वह जरूर देंगे। उन्होंने कहा कि सभी को मालूम है कि अयोध्या में भगवान राम का जन्म हुआ है और वहां हुई खुदाई से साबित हो चुका है कि वह एक मंदिर था।

वहीं इससे पहले याकूब हबीबुद्दीन तुसी कह चुके हैं कि श्रीराम जन्मभूमि पर स्थापित ढांचा बाबरी मस्जिद नहीं था। राममंदिर निर्माण देशवासियों की आस्था से जुड़ा मुद्दा है। सरकार को जल्द ही मंदिर का निर्माण कराना चाहिए। 

ये भी पढ़ें : “राम जन्मभूमि पर सिर्फ राम मंदिर ही बनेगा”