कुम्भ – भरी ठंड में संगम के किनारे पसीना बहा रहे पहलवान

0
Wrestler-who-is-sweating-on-the-edge-of-the-confluence-kumbh-news4social

प्रयागराज:- भरी ठंड में संगम की रेती पर लोग जहाँ भारी ठंड से सिकुड़ते जा रहें हैं, ठंड से बचने के लिए बड़े स्तर पर गर्म कपड़े  की मांग कर रहें हैं वहीं महानिर्वाणी आखाड़े के पहलवान केवल लंगोट पर मेला परिसर में टहल रहें है वो भी पसीने से तर बतर होकर।

पहलवानों की व्यवस्था के लिए अलग से अखाड़े में सेवक रखें गए हैं। पहलवानों को मेहनत करने के लिए अखाड़ा परिसर में ही व्यवस्था बनाई गई है जहाँ पहलवान दिन रात पसीना बहाते है। पहलवानों का भोजन भी खुले आसमान के नीचे साधु-संतों की मौजूदगी में बनाया जाता है। अखाड़े में मौजूद पहलवानों का काम केवल दंड पेलना और कुश्ती करना होता होता है।

यहाँ देखे पहलवानों की कुछ तस्वीरें

कुम्भ मेला में पहलवान
कुम्भ मेला में पहलवान
कुम्भ मेला में पहलवान
कुम्भ मेला में पहलवान
कुम्भ मेला में पहलवान

महा निर्वाणी अखाड़े में बजरंग बली को इष्ट देव माना जाता है। अखाड़े की ओर से विशेष तौर पर पहलवान तैयार किया जाता है। इसी तर्ज पर अर्द्धकुम्भ में अखाड़ा अपने पहलवानों को लेकर पहुँचा है। पहलवानों को देखने के लिए लोग महानिर्वाणी अखाड़े में पहुँच रहे है।

अखाड़े में पहलवानों को देखने के लिए पहुँचे लोग फ़ोटो और सेल्फी भी ले रहे हैं। महानिर्वाणी अखाड़े के महंत और रामजन्मभूमि न्यास ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत धर्मदास जी के मुताबिक पहलवानों को तैयार करने में आने वाला खर्च अखाड़ा परिषद उठाता है। इसके लिए पहलवानों से कोई शुल्क भी नही लिया जाता।