हिंदी फिल्मों के सबसे मशहूर मॉडर्न “कहानीकार” इम्तियाज़ अली का आज 46वां जन्मदिन

कहानियां और कहानीकार एक दूसरे के पूरक है |कहानीकार कहानियाँ कहता है और हम सुनते है |लेकिन इस मॉडर्न ज़माने में कहानियों की दुनिया थोड़ी बदल गयी है |और हमारे बीच 21वीं  सदी का एक नया कहानीकार आ गया है |जी हाँ हिंदी फिल्मों के सबसे मशहूर मॉडर्न “कहानीकार” इम्तिआज़ अली के 46 वें जन्मदिन पर एक नज़र डालते है उनके फ़िल्मी सफ़र पे |

कहानीकार इम्तियाज़ की कहानी
इम्तियाज़ अली का जन्म 16 जून 1971 को जमशेदपुर में हुआ |बचपन से ही इम्तियाज़ कहानियों की दुनियां खुद में लेकर चल रहे थे |और कहानियों को लेकर उनका यह प्यार ही उनको बॉलीवुड का मॉडर्न कहानीकार  बनाती है |

सोचा ना था -थी पहली फिल्म
इम्तियाज़ अली ने अपने करियर की शुरुआत साल 2005 में ”सोचा ना था “के साथ की |फिल्म में अभय देओल और आयशा टाकिया मुख्य भूमिका में थे |फिल्म सोचा ना था कहानी है ऐसे दो किरदारों की कहानी है  जो एक दुसरे को शादी के लिए रिजेक्ट करने के बाद प्यार में पड़ जाते है |

”जब वी मेट ” ने दिलाई सफलता
अपनी पहली फिल्म के साथ इम्तियाज़ को उस तरह का प्यार दर्शकों से नहीं मिला जिस तरह का वो चाह रहे थे|लेकिन साल 2007 में आई फिल्म जब वी मेट ने इम्तियाज़ को रातों -रात युवाओं का चहेता कहानीकार बना दिया |गीत और आदित्य की पंजाबी प्रेम कहानी दर्शकों को खूब भायी |

लव आज कल – आज कल के प्यार की कहानी  
साल 2009, में आई सैफ अली खान और दीपिका पादुकोण स्टारर लव आज कल साल की सबसे बड़ी हिट में से एक थी|फिल्म में जय और मीरा के किरदारों के द्वारा आज कल के प्यार को दर्शाया गया था |

रोकस्टार -टूटे हुए दिल से संगीत निकलता है
साल 2011 में आई रणबीर कपूर की ”रॉकस्टार ”ने इम्तियाज़ और रणबीर दोनों को बॉलीवुड का रॉकस्टार बना दिया|फिल्म का म्यूजिक बहुत बड़ा हिट साबित हुआ ,और फिल्म को भी बहुत सराहा गया |

हाईवे – पटाखा गुड्डी
साल 2014 में आई  आलिया भट्ट और रणदीप हुड्डा स्टारर फिल्म ”हाईवे ” ने बाल यौन शोषण जैसे संवेदनशील मुद्दे को उठाया था |

तमाशा -अगर तुम साथ हो
इम्तियाज़ की सबसे खूबसूरत फिल्मों में से एक ”तमाशा” ,कोर्सिका की हसीन वादियों में शूट हुई इस फिल्म ने हम सबके अन्दर छुपे ख्वाबों को एक नयी हवा दी |रणबीर -दीपिका स्टारर इस फिल्म ने दर्शकों के दिल पे एक गहरी छाप छोड़ी|इस फिल्म का गीत अगर तुम साथ हो अब तक लोगो की प्ले लिस्ट में है |इम्तिआज़ रूमी से बहुत प्रभावित रहे है |अली की फिल्मों का एक फार्मूला है ,जहाँ एक सफ़र पे एक लड़का एक लड़की से मिलता है और उन दोनों में प्यार हो जाता है | इम्तियाज़ अपनी फिल्मों के गानों के लिए भी बहुत प्रसिद्द है |

इम्तियाज़ की लास्ट फिल्म जब हेरी मेट सेजल बॉक्स ऑफिस पर उतना कमाल नहीं कर पायी |
हम सबके चहेते कहानीकार को जन्मदिन की बहुत -बहुत शुभकामनाएं |