जानियें, क्यों बुलाई सीएम ममता ने मीटिंग?

0
जानियें, क्यों बुलाई सीएम ममता ने मीटिंग?
जानियें, क्यों बुलाई सीएम ममता ने मीटिंग?

बीते दिनों से दार्जिलिंग में चल रहे है आंदोलन का रूख अब ढीला पड़ने लगा है। जी हाँ, दार्जिलिंग हिल्स बंद आंदोलन के ढीला पड़ने के संकेत मिलने लगे हैं। तो अब सवाल यह खड़ा होता है कि सीएम ममता ने क्यों और किसकी मीटिंग बुलाई है। तो आइये आपको बताते है कि दार्जिलिंग मामलें पर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने 29 अगस्त को पर सर्वदलीय मीटिंग बुलाई है, जिसमें गोरखा जनमुक्ति मोर्चा ने शामिल होने के संकेत दिए हैं।

आपको बता दें कि बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने सर्वदलीय बैठक बुलाने का फैसला गोरखा नेशनल लिब्रेशन फ्रंट का एक पत्र मिलने के बाद किया। साथ ही सीएम ममता ने कहा कि मैं जीएनएलएफ का पत्र मिलने से खुश हूं। इसी वजह से मैंने सभी पार्टियों से 29 अगस्त को एक मीटिंग में आने को कहा है ताकि दार्जिलिंग हिल्स एरिया को लेकर लंबे समय से चल रहे गतिरोध को खत्म किया जा सके। हालांकि बैठक से पहले कोई शर्त नहीं रखी गई है।

शांति पर होगा हल-

आपको बता दें कि सीएम ममता ने कहा कि हम शांति, विकास और दार्जिलिंग में सामान्य हालात के पक्ष में हैं। साथ ही सीएम साहिबा ने यह भी कहा कि हम किसी से भी बात करने को तैयार हैं, जो शांति और सामान्य हालात के पक्ष में हो। मीटिंग मामलें में सीएम ने यह भी कहा कि मैं सभी विकास बोर्डों के चेयरमैन के साथ खुद उस मीटिंग की अगुवाई करूंगी, क्योंकि हम पहाड़ों पर विकास चाहते हैं। साथ ही सीएम ने निवासियों से अपील करते हुए कहा कि पहाड़ों के अपने भाइयों और बहनों से शांति और हालात सामान्य करने में मदद करें। साथ ही एकता को लेकर भी सीएम ने कहा कि पहाड़ों के विकास और राज्य के लिए मिलकर काम करना बहुत जरूरी है।

सीएम साहिबा ने जाहिर की खुशी-
आंदोलन के रूख को ढीला पड़ते देख सीएम साहिबा खुशी से झूम उठी। आपको बता दें कि सीएम ने बिना जीजेएम का नाम लिए कहा कि मीटिंग राज्य सचिवालय निबाना में होगी और यह एक सकारात्मक कदम है। ममता ने ये भी कहा कि शुरुआत से ही मैं उनसे बैठकर बात करने का अनुरोध करती रही हूं। इसके साथ ही सीएम ने यह भी कहा कि मैं खुश हूं कि वो अब संवाद के लिए तैयार हैं। जीजेएम के मीटिंग में शामिल होने के सवाल पर सीएम ने कहा कि बैठक में हिल्स एरिया की मुख्य पार्टियों का स्वागत है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

one × two =