जानिये, क्यों नाराज हैं सीएम योगी?

0
जानिये, क्यों नाराज हैं सीएम योगी?
जानिये, क्यों नाराज हैं सीएम योगी?

यूपी की कानून व्यवस्था से पूरा देश भलीभांति परिचित ही होगा। यूपी में कड़े कानून व्यवस्था, यूपी को भ्रष्टाचार से मुक्त बनाने का सपना लगभग हर सरकार देखती है, लेकिन सवाल यह खड़ा होता है कि क्या सपना देखने मात्र से ही पूरा हो जाता है ? जी नहीं, सपने को पूरा करने के लिए दिन-रात मेहनत करनी पड़ती है। यूपी की कानून व्यवस्था पर पूरा देश सवाल तो खड़ा करता ही है, लेकिन अब यूपी के सीएम योगी भी लचर कानून व्यवस्था से नाराज नजर आए। जी हाँ, सीएम योगी प्रदेश के कानून व्यवस्था से खफा हो गये है, जिसके लिए सीएम योगी ने आलाअधिकारियों को चेतावनी दे दी है।

आपको बता दें कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जिला स्तरीय के पहले दौरे में 18 अफसरों पर कार्रवाई करने से नौकरशाही में यह साफ संदेश गया कि अब सीएम योगी बख्शने के मूड में नहीं हैं। सीएम योगी ने कहा कि कुछ ऐसे अफसर हैं, जो भ्रष्टाचार में लिप्त हैं। साथ ही सीएम ने यह भी कहा कि अब चेतावनी देने का वक्त बीत चुका है, अब सीधे कार्रवाई होगी।

खबर के मुताबिक, महराजगंज में विकास कार्यों और कानून-व्यवस्था की समीक्षा के बाद सीएम योगी ने 11 छोटे-बड़े अधिकारियों के निलंबन और आठ के तबादले का फैसला सुनाया। इस कार्रवाई में छह थानेदार भी शामिल है।

आपको बता दें कि 19 मार्च को यूपी के सीएम की कुर्सी संभालने के बाद योगी आदित्यनाथ ने नौकरशाही को काम करने की छूट दी और अपने लोगों को अफसरों से समन्वय बनाने के साथ ही अनुशासित रहने का निर्देश दिया। मुख्यमंत्री की मंशा यह थी कि पिछली सरकारों की तरह अफसरों पर दबाव न रहे। कुछ अफसरों ने इसका सकारात्मक संदेश लिया लेकिन कुछ अफसरों ने सीएम की बात को नजरअंदाज किया, जिससे सीएम नाराज दिख रहे है। साथ ही अफसरों की मनमानी की शिकायतों ने भी मुख्यमंत्री की नाराजगी बढ़ाई।

सीएम ने कहा कि पहले ही दिये गये थे निर्दश

सीएम योगी ने कहा कि अफसरों पर की गई कार्रवाई अचानक नहीं है, इसके लिए पहले ही संकेत दे दिये गये थे। आपको याद दिला दें कि हाल ही में बीजेपी के दिग्गज नेता अमित शाह यूपी के दौरे पर आए थे। अमित शाह के जाने के बाद सीएम योगी ने मंत्रियों और शीर्ष अधिकारियों के साथ बैठक के दिन चंदौली के सीडीओ को निलंबित करने का निर्देश देकर संकेत दे दिया था। साथ ही वीडियो कांफ्रेंसिंग में भी भदोही के पूर्व सीडीओ समेत कई अफसरों पर वह नाराज हुए। लेकिन अफसरों ने उनके दौरे को हल्के से लिया और महराजगंज के नतीजे ने साफ कर दिया कि अब यूपी में पहले की तरह अफसरों की मनमानी नहीं चलेगी।

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ की इस कार्रवाई ने यह साफ कर दिया है कि अब यूपी की कानून व्यवस्था को सुधार करके ही मानेंगे। बहरहाल, यूपी के सीएम के इस कार्रवाई से प्रदेश की कानून व्यवस्था में कितना सुधार होता है, या फिर पिछली सरकारों की तरह सीएम योगी का भी यह सपना केवल सपना ही बनकर रह जाएगा, यह तो खैर वक्त ही बताएगा। लेकिन सीएम योगी के इस कार्रवाई से अफसरों की मनमानी पर पूरा तो नहीं कह सकते है, लेकिन थोड़ी-बहुत लगाम तो जरूर लगेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

16 + five =