आखिर भाजपा और बसपा के नेता क्यों लड़ना चाहते है इस वीआईपी सीट से

नई दिल्ली: चुनावी गर्मागर्मी का माहौल हर राज्य में बना हुआ है. जिसको लेकर तमाम दलों के नेता सक्रिय होते दिखाई दे रहे है. सभी पार्टियों की जीत की जड़ें उत्तर प्रदेश से ही होकर गुजरती है.  ऐसे में कोई भी नेता यूपी से चुनाव लड़ने का मौका अपने हाथ से नहीं जाने देना चाहता है.

देश के पीएम का चेहरा यूपी से होकर ही गुजरता है

यूपी की राजनीती के बारे में सभी जानते है. ऐसा माना जाता है कि देश के पीएम का चेहरा यूपी से होकर ही गुजरता है, क्योंकि यूपी एक ऐसा राज्य है जहां पर लोकसभा की सीटें बाकी जगहों की तुलना में काफी अधिक है. जैसे-जैसे चुनाव समीप आते दिखाई दें रहे है वैसे-वैसे राजनीतिक तापमान में भी लगातार बढोत्तरी हो रहीं है.

गौतमबुद्धनगर की लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने को लेकर बीजेपी के नेताओं की लाइन लंबी

उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्धनगर जिले का राजनीतिक तापमान अधिकतर बढ़ता जा रहा है. सत्ता में’ एक बार फिर से काबिज होने को लेकर सबसे ज्यादा गर्माहट भारतीय जनता पार्टी में महसूस की जा रहीं है. बहरहाल, आगामी लोकसभा को लेकर कुछ महीने बाकी लेकिन गौतमबुद्धनगर जिले की लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने की इच्छा रखने वाले भाजपा के नेताओं की लाइन लंबी होती जा रहीं है.

अवतार सिंह भड़ाना का बयान 

मुजफ्फरनगर के मीरापुर विधानसभा से विधायक और चार बार सांसद रह चुके अवतार सिंह भड़ाना का नाम भी इस लिस्ट में शामिल है. अवतार सिंह सोमवार की शाम एक शादी समारोह में गए थे जिसमें उन्होंने अपने दिल की बात खुलकर बोली. उन्होंने बताया कि वह साल 2019 का लोकसभा चुनाव जरुर लड़ेंगे. जिसके लिए उनकी पहली पसंदीद जगह फरीदाबाद है और दूसरी पसंद गौतमबुद्धनगर और तीसरा मेरठ है.

सुनील बंसल के पास भी कई नेताओं ने परिक्रमा लगाकर अपनी दावेदारी पेश की

हाल ही में बीजेपी के प्रदेश उपाध्यक्ष नवाब सिंह नागर के अतिरिक्त चार अन्य दिग्गज नेताओं ने भी गौतमबुद्धनगर लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने के लिए पार्टी में आवेदन किया है. जिसमें एक पूर्व महानगर अध्यक्ष और एक एमएलसी भी शामिल है. ये ही नहीं कुछ समय पहले नोएडा आए बीजेपी के संगठन महामंत्री सुनील बंसल के पास भी कई नेताओं ने परिक्रमा लगाकर अपनी दावेदारी पेश की है.