देखें मोदी सरकार में किसका बढ़ सकता है कद?

0

एनडीए में कुछ नए दलों के शामिल होने के बाद मोदी मंत्रीमंडल का विस्तार होना तय है। लोग अटकलें लगा रहे हैं। केंद्रीय मंत्रिमंडल में पहले से ही कई विभाग खाली हैं। ऐसे में रेल मंत्री सुरेश प्रभु के इस्‍तीफे की पेशकश ने इस विस्‍तार को और जरूरी कर दिया है। सूत्रों के हवाले से खबर है कि प्रधानमंत्री मोदी नई कैबिनेट में कुछ नये चेहरों को भी शामिल कर सकते हैं। जेडीयू और एआईएडीएमके के एनडीए में शामिल होने के बाद इन्‍हें भी केंद्रीय मंत्रिमंडल में जगह मिलने की पूरी संभावना है। ऐसे में पीयूष गोयल और नितिन गडकरी जैसे कुछ मंत्री हैं, जिनका कद मंत्र‍िमंडल में और बढ़ाया जा सकता है।

रेल मंत्रालय के लिए पिछला सप्ताह काफी चिंतापूर्ण रहा है। हम पहले ही बता चुके हैं कि पांच दिन के अंदर दो बड़े रेल हादसों के बाद रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए इस्तीफे की पेशकश की हालांकि पीएम मोदी ने उनसे कुछ दिन इंतजार करने के लिए कहा है। माना जा रहा है कि कैबिनेट विस्‍तार में रेल मंत्रालय प्रभु से लेकर किसी और को दिया जा सकता है। हालांकि सुरेश प्रभु को मोदी का भरोसेमंद सिपहसालार माना जाता है, ऐसे में माना जा रहा है कि मोदी उन्हें अपनी कैबिनेट में बनाए रखेंगे। इस फेरबदल में परिवहन मंत्री नितिन गडकरी का कैबिनेट में कद बढ़ाया जा सकता है। उन्हें हाईवे निर्माण के क्षेत्र में बदलाव लाने का पूरा श्रेय दिया जाता है। सूत्रों के अनुसार, उन्हें सभी ट्रांसपोर्ट संबंधित मंत्रालयों (परिवहन, रेलवे) की जिम्मेदारी दी जा सकती है। परिवहन से जुड़े सभी मामलों के लिए एक ही मंत्रालय होने का प्रस्ताव साल 2014 में आया था। यह प्रस्ताव अमेरिका की यूनिफाइड मिनिस्ट्री ऑफ ट्रांसपोर्ट से प्रेरित होकर लाया गया था।

वहीं ऊर्जा के क्षेत्र में भी अलग-अलग मंत्रालयों को हटाकर मोदी सरकार सिर्फ एक मंत्रालय से काम कर रही है। ऊर्जा मंत्री पियूष गोयल के काम की लगातार सराहना हो रही है। माना जा रहा है कि उन्हें भी फुल कैबिनेट पोस्ट दी जा सकती है। फेरबदल के बाद नया रक्षा मंत्री मिलना भी तय है। यह पद फिलहाल वित्त मंत्री अरुण जेटली संभाल रहे हैं, पर्रिकर ने गोवा का मुख्यमंत्री बनने के लिए यह पद छोड़ा था। वहीं विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का स्वास्थ्य पिछले कुछ महीनों से ठीक नहीं है। सूत्रों की मानें तो वह एक ऐसा मंत्रालय चाह रही हैं जहां उनकी सेहत की वजह से काम करने में उन्हें अधिक परेशानी न हो। खबरों की मानें तो इस संबंध में उन्होंने पीएम मोदी से बात भी कर ली है।

वहीं बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह भी अब राज्यसभा के सदस्य बन गए हैं। कहा जा रहा है कि वह अलग-अलग राज्यों के सांसदों में मंत्री बनने की संभावनाएं तलाश रहे हैं। स्किल डेवलपमेंट, पर्यटन और संस्कृति मंत्रालयों में बड़े फेरबदल की संभावना है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

17 − 11 =