रक्षाबंधन के बाद राखी को कब उतारना चाहिएं ?

0
272
रक्षाबंधन के बाद राखी को कब उतारना चाहिएं ? ( When should I take off Rakhi after Rakshabandhan? )
रक्षाबंधन के बाद राखी को कब उतारना चाहिएं ? ( When should I take off Rakhi after Rakshabandhan? )

रक्षाबंधन के बाद राखी को कब उतारना चाहिएं ? ( When should I take off Rakhi after Rakshabandhan? )

रक्षाबंधन- हमारा देश प्राचीन समय से अपने रिति-रिवाजों के लिए प्रसिद्ध रहा है. हमारे देश में अनेंक त्यौहार मनाए जाते हैं. इन त्यौहारों में भगवान के जन्म या उनके जीवन से जुडे हुए कुछ विशेष अवसरों के साथ साथ रिश्तों से संबंधित भी कई तरह के त्यौहार मनाएं जाते हैं. इन त्यौहारों के बारे में हमारे पास पूरी जानकारी नहीं होती है.

यहीं कारण है कि लोगों के मन में कुछ विशेष महत्व रखने वाले त्यौहारों से संबंधित कई तरह के सवाल पैदा हो जाते हैं. इसी तरह का एक सवाल जो आमतौर पर पूछा जाता है कि रक्षाबंधन के बाद राखी को कब उतारना चाहिएं ? अगर आपके मन में भी ऐसा ही सवाल है, तो इस पोस्ट में इसी सवाल का जवाब जानते हैं.

रक्षाबंधन
रक्षाबंधन

2022 का रक्षाबंधन कब है –

रक्षाबंधन का पर्व प्रत्येक वर्ष बड़े ही खुशियों के साथ मनाया जाता है. पंचाग के अनुसार श्रावण मास की शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा को यह त्यौहार मनाया जाता है. यह त्यौहार प्रत्येक वर्ष मनाया जाता है. अगर 2022 में आने वाले रक्षाबंधन के त्यौहार की बात करें, तो इस बार यह त्यौहार 11 अगस्त , 2022 को मनाया जाएगा. यह त्यौहार भाई बहन के रिश्ते का त्यौहार होता है.

Copy

रक्षाबंधन के त्यौहार पर राखी बांधने के शुभ महुर्त की बात करें, तो सुबह 09 बजकर 28 मिनट से लेकर रात 09 बजकर 14 मिनट तक रहेगा. इस दिन सुबह 05 बजकर 48 मिनट से 06 बजकर 53 मिनट तक रवि योग रहेगा. जबकि शाम 06 बजकर 55 मिनट से रात 08 बजकर 20 मिनट तक अमृत योग रहेगा. ऐसा माना जाता है कि भद्राकाल में भाई की कलाई पर राखी बांधना अच्छा नहीं होता है.

रक्षाबंधन के बाद राखी
रक्षाबंधन

रक्षाबंधन का इतिहास –

वैसे तो रक्षाबंधन के इतिहास से संबंधित हमें कई कथाएं सुनने को मिल जाती हैं. लेकिन हिंदू धर्म के अनुसार इस पर्व की शुरूआत महाभारत काल में हुई थी. हिंदू मान्यताओं के अनुसार ऐसा माना जाता है कि एक बार श्री कृष्ण भगवान ने शिशुपाल का वध किया , तो उस समय उनके हाथ की उंगली में चोट लग गई.

द्रोपदी से यह पीड़ा देखी नहीं गई. ऐसे में द्रोपदी ने अपनी साड़ी का एक टुकड़ा चिरकर श्री कृष्ण भगवान की उंगली पर बांध दिया. ऐसा माना जाता है कि तभी से रक्षा बंधन के पर्व को मनाने की शुरूआत हुई. हालांकि इसके अलावा भी रक्षाबंधन की शुरूआत के विषय में काफी कथा और मान्यताएं हैं.

यह भी पढ़ें : कम वजन से परेशान हैं तो जानिए वजन बढ़ाने के महत्वपूर्ण उपाय !

राखी को कब उतारना चाहिएं –

रक्षाबंधन पर राखी बांधने के बाद काफी लोगों के मन में सवाल आता है कि आखिर इस राखी को कब उतारना चाहिएं. हालांकि इसके विषय शास्त्रों में जानकारी नहीं दी गई है. लेकिन ऐसा मानना जाता है कि रक्षाबंधन के बाद कम से कम 21 दिनों तक हमें राखी को अपनी कलाई पर रखना चाहिएं.

इसके साथ ही अगर हम रखना चाहेँ, तो जब तक राखी अपने आप नहीं टूट जाती है, तब तक हम इसको रख सकते हैं. लेकिन हमें एक बात का विशेष ध्यान रखना चाहिएँ जब हम राखी को उतारते हैं, तो इसको ईधर-उधर या कचरे में नहीं डालना चाहिएं. इसके लिए या तो मिट्टी में दबा देना चाहिेएँ या पानी में बहा देना चाहिएं.

Today latest news in hindi के लिए लिए हमे फेसबुक , ट्विटर और इंस्टाग्राम में फॉलो करे | Get all Breaking News in Hindi related to live update of politics News in hindi , sports hindi news , Bollywood Hindi News , technology and education etc.