यूपी में ऑक्सीजन की कमी से बच्चे मर सकते है वहां कोरोना से बचने के क्या इंतिज़ाम किये गए है ?

uttarpradesh news
उत्तरप्रदेश में कोरोना से बचने के क्या इंतज़ाम किये गए है ?
यूपी में ऑक्सीजन की कमी से बच्चे मर सकते है वहां कोरोना से बचने के क्या इंतिज़ाम किये गए है ?

देश में बढ़ते कोरोनावायरस मामलों में, योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली उत्तर प्रदेश सरकार ने रविवार को 25 जिलों में वायरस के प्रसार को रोकने के लिए 15 जिलों में पूर्ण तालाबंदी कर दी।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने कहा, “तालाबंदी 23 मार्च से 25 मार्च तक राज्य के 15 जिलों में प्रभावी होगी।लोगों से अपने घरों के अंदर रहने की अपील करते हुए आदित्यनाथ ने आगे कहा कि यूपी रोडवेज की सेवाएं भी 25 मार्च तक निलंबित रहेंगी।

देश में कोरोनावायरस के प्रसार को नियंत्रित करने के लिए लॉकडाउन के तहत जाने वाला यूपी छठा राज्य है।इससे पहले दिन में, उत्तर प्रदेश में चल रहे जनता कर्फ्यू को सोमवार सुबह 6 बजे तक बढ़ा दिया गया था।

मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने कहा कि देश भर में मनाया जा रहा ‘जनता कर्फ्यू’ कोरोनोवायरस महामारी के खिलाफ एक लड़ाई है और इसे हराने का सबसे अच्छा तरीका सामाजिक भेद है।उन्होंने लोगों को यह भी आश्वासन दिया कि राज्य सरकार ने COVID-19 से लड़ने के लिए सभी आवश्यक उपाय किए हैं।

राज्य में वायरस के प्रसार को रोकने के लिए राज्य सरकार ने आज के लिए मेट्रो और बस सेवाओं को बंद करने सहित कई कदम उठाए हैं।कोरोनावायरस ने देश में 300 से अधिक लोगों को प्रभावित किया है और भारत में पांच लोगों के जीवन का दावा किया है।

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने एक जगह पर ज़्यादा लोगों के एकत्रित होने से रोकने के लिए ये क़दम उठाए हैं,जनता कर्फ़्यू जारी रहेगा और इसके तहत पहले चरण में 15 ज़िलों में पूरी तरह लॉकडाउन होंगे।

इन 15 ज़िले में लॉकडाउन के दौरान पेट्रोलिंग होगी और इन ज़िलों में किसी प्रकार की कोई गतिविधि नहीं होगी और 23 से 25 तारीख तक यह जारी रहेगा.

पहले चरण में लॉकडाउन किए जाने वाले 15 ज़िले आगरा, लखनऊ, गौतमबुद्ध नगर, गाजियाबाद, मुरादाबाद, वाराणसी, लखीमपुर खीरी, बरेली, आजमगढ़, कानपुर, मेरठ, प्रयागराज, अलीगढ़, गोरखपुर और सहारनपुर हैं.

जनता की सहायता के लिए पूरे प्रदेश के अंदर यूपी पुलिस की पीआरवी 112 के लगभग 3000 फोर-व्हीलर, 1500 टू-व्हीलर सुरक्षा के साथ-साथ आवश्यक सामग्री पहुंचाने में भी मदद करेंगे

कोरोना के संक्रमण में आने वालों के मुफ़्त इलाज की व्यवस्था प्रदेश सरकार करने जा रही है,स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए 108 की 2200 एंबुलेंस हैं, 102 की 2270 एंबुलेंस तैयार हैं.

yogi on corona

एडवांस लाइफ सपोर्ट एंबुलेंस 250 हैं. यह भी पूरे प्रदेश के अंदर इमरजेंसी स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए तैनात रहेंगी,रेहड़ी, खोमचे वालों, मनरेगा के मजदूरों, अंत्योदय कार्ड धारकों आदि के लिए राहत पैकेज की घोषणा प्रदेश सरकार पहले से कर चुकी है.

हर ग्राम पंचायत, स्कूल, हॉस्पिटल तथा हर धार्मिक स्थल के बाहर बड़े-बड़े होर्डिंग्स, पोस्टर्स आदि चस्पा कर दिए हैं, ताकि लोग सावधानीपूर्वक उन सबको देखें और कोरोना वायरस से बचाव के लिए सावधानी बरतें.

सभी सिनेमाघरों और मल्टीप्लेक्सों को अगले आदेश तक बंद रखने का नोटिस दिया गया है और सभी पर्यटन स्थल और संग्रहालयों को 31 मार्च तक बंद रखने का आदेश दिया गया है.

yogi adinyatah

सभी शैक्षणिक संस्थाओं को 2 अप्रैल तक बंद रखने का आदेश दिया गया है और वहीं कर्मचारियों के लिए, जितना संभव हो, घर से ही काम करने के निर्देश दिया गया है और इस मुद्दे को लेकर सरकारी कर्मचारियों को बायोमिट्रिक हाजिरी से छूट मिलेगी।

दिहाड़ी मज़दूरी करने वालों को एक निश्चित धनराशि RTGS के माध्यम से भेजी जाएगी जिससे मज़दूरों के परिवारों का भरण-पोषण हो सके.

हेल्पलाइन नंबर 18001805145 के माध्यम से लोगों को कोरोना के संबंध में जागरूक किया जाएगा,ग्राम पंचायतों और नगर विकास निगमों के अधिकारियों को सफ़ाई व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए हैं.

यह भी पढ़ें :कोरोना वायरस की जांच दिल्ली में कहां कराएं !

कोरोना वायरस के इलाज़ के लिए लगने वाला ख़र्चा यूपी सरकार की ओर से वहन किया जाएगा,वहीँ कक्षा एक से आठ तक बच्चों को बिना परीक्षा के अगली कक्षा में भेजने की व्यवस्था की जाएगी।और बात करे नोएडा और ग्रेटर नोएडा में स्विमिंग पूल, सार्वजनिक कार्यक्रमों, धार्मिक और राजनीतिक बैठकों पर 15 अप्रैल तक प्रतिबंध लगाए गए हैं.

Today latest news in hindi के लिए लिए हमे फेसबुक , ट्विटर और इंस्टाग्राम में फॉलो करे | Get all Breaking News in Hindi related to live update of politics News in hindi , sports hindi news , Bollywood Hindi News , technology and education etc.