West Bengal Election 2021: चुनाव प्रचार में लौटीं Mamata Banerjee, चोट के बाद पहली बार व्हीलचेयर पर की रैली

77


कोलकाता: नंदीग्राम में चुनावी प्रचार के दौरान घायल होने के बाद पश्चिम बंगाल (West Bengal) की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) एक बार फिर मैदान में उतर गई हैं और रविवार को पहली बार व्हीलचेयर पर बैठकर रैली की. ममता बनर्जी ने कोलकाता से मायो रोड से व्हीलचेयर पर रोड शो की शुरुआत की है और हाजरा तक गईं. रैली शुरू करने से पहले ममता बनर्जी ने ट्वीट किया और कहा कि जनता का दर्द उन्हें ज्यादा महसूस होता है.

रैली से पहले ममता बनर्जी का ट्वीट

कोलकाता में रैली से पहले ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने ट्वीट कर कहा, ‘हम निर्भीक होकर लड़ते रहेंगे! मैं अभी भी बहुत दर्द में हूं, लेकिन मुझे अपने लोगों का दर्द और भी ज्यादा महसूस होता है. अपनी जमीन की रक्षा करने के लिए इस लड़ाई में हमने बहुत कुछ झेला है और हम और अधिक चीजें झेलेंगे, लेकिन हम कभी भी कायर की तरह नहीं झुकेंगे.’

खुद बताई नंदीग्राम से चुनाव लड़ने की वजह

रैली से पहले ममता बनर्जी ने ट्वीट कर नंदीग्राम से चुनाव लड़ने की वजह बताई. उन्होंने कहा, ‘2007 में आज के ही दिन बेगुनाह ग्रामीणों को नंदीग्राम में गोलीबारी कर मार दिया गया था. कई लोगों के शव मिल भी नहीं सके. यह राज्य के इतिहास का काला अध्याय था. जान गंवाने वालों को दिल से श्रद्धांजलि.’

उन्होंने आगे ट्वीट किया, ‘नंदीग्राम में अपनी जान गंवाने वालों की याद में, हम हर साल 14 मार्च को कृषक दिवस के रूप में मनाते हैं और कृष्ण रत्न पुरस्कार देते हैं. किसान हमारा गौरव हैं और हमारी सरकार उनके सर्वांगीण विकास के लिए काम कर रही है.’

उन्होंने तीसरे ट्वीट में कहा, ‘मैं नंदीग्राम के अपने भाइयों और बहनों के प्रोत्साहन से इस ऐतिहासिक स्थल से तृणमूल कांग्रेस के उम्मीदवार के तौर पर बंगाल चुनाव 2021 लड़ रही हूं. यहां होना और बंगाल विरोधी ताकतों के खिलाफ शहीद परिवारों के सदस्यों के साथ काम करना मेरे लिए बड़े सम्मान की बात है.’

लाइव टीवी

नंदीग्राम में रैली के दौरान लगी थी ममता बनर्जी को चोट

पश्चिम बंगाल (West Bengal) की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) नंदीग्राम (Nandigram) के बिरुलिया गांव में चुनाव प्रचार के दौरान घायल हो गई थीं, जिसके बाद उन्हें कोलकाता के एसएसकेएम अस्पताल में भर्ती कराया गया था. ममता बनर्जी को बाएं टखने और पैर की हड्डियों में चोट लगी थी, जिसके बाद उनके पैरों पर प्लास्टर लगाया गया था.

पश्चिम बंगाल में 8 चरणों में होगी वोटिंग

बता दें कि पश्चिम बंगाल (West Bengal) की 294 विधान सभा सीटों के लिए 8 चरणों में वोटिंग होगी. राज्य में 27 मार्च, एक अप्रैल, 6 अप्रैल, 10 अप्रैल, 17 अप्रैल, 22 अप्रैल, 26 अप्रैल और 29 अप्रैल को मतदान होंगे, जबकि चुनाव परिणाम 2 मई को आएंगे. पहले और दूसरे चरण में 30-30 सीटों, तीसरे चरण में 31 सीटों, चौथे चरण में 44 सीटों, पांचवें चरण में 45 सीटों, छठे चरण में 43 सीटों, सातवें चरण में 36 सीटों और आठवें चरण में 35 सीटों पर मतदान करवाया जाएगा.





Source link