गुजरात में एक बार फिर भड़की हिंसा, हालत बेकाबू

0

गुजरात के गांधीधाम में मंगलवार को उस समय माहौल तनावपूर्ण हो गया जब किसी व्यक्ति ने माहेश्वरी समुदाय के धार्मिक नेता के खिलाफ सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक पर आपत्तिजनक टिप्पणी कर दी। टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, माहेश्वरी समुदाय के लोगों ने शहर के कई मुख्य मार्गों को बंद कर दिया और गाड़ियों के टायर जलाए। इतना ही नहीं उग्र भीड़ ने पुलिस के वाहनों को भी नहीं छोड़ा और उनकी गाड़ियों में तोड़फोड़ की। भीड़ पर काबू पाने के लिए पुलिस को आंसू गैस के गोले छोड़ने पड़े, जिसके बाद भीड़ तित्तर-बित्तर हो पाई। रिपोर्ट के मुताबिक भीड़ ने करीब पुलिस की छह गाड़ियां तोड़ दीं थी।

इसके अलावा उन्होंने पुलिस पर पत्थरबाजी भी की जिसमें एक पुलिसकर्मी बुरी तरह से घायल हो गया। टैगोर रोड़ के ओस्लो सर्किल पर इकट्ठा हुए माहेश्वरी समुदाय के लोग अपने धार्मिक गुरु के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाले की गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे। प्रदर्शनकारियों के कारण गांधीधाम की तरफ आने वाली गाड़ियों से वहां काफी भारी ट्रैफिक जाम हो गया था। वहीं भीड़ के उग्र प्रदर्शन को देखते हुए गुजरात स्टेट रोड और ट्रांसपोर्ट कॉरपोरेशन ने गांधीधाम जाने वाली सभी सर्विसों को स्थगित कर दिया।

इस घटना की जानकारी जैसे ही गांधीधाम की विधायक माल्ती माहेश्वरी और पूर्वी कच्छ की एसपी भावना पटेल  को लगी वे तुरंत मौके पर पहुंची। उन्होंने लोगों को शांत कराने की कोशिश की लेकिन वे नाकाम रहीं। रिपोर्ट के अनुसार, इस मामले पर बात करते हुए माल्ती माहेश्वरी ने कहा, “मैंने पुलिस से कहा है कि वे प्राथमिकी दर्ज करें। मैं लगातार इस मामले को लेकर पुलिस से संपर्क में हूं और लोगों को समझाने की कोशिश कर रही हूं कि वे शांतिपूर्वक प्रदर्शन करें।” वहीं स्थानीय मीडिया के लोगों ने आरोप लगाया है कि जब वे इस घटना को कवर कर रहे थे तो पुलिस ने उनके साथ मारपीट की। फिलहाल पुलिस ने इस मामले में अभीतक अपनी कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

twenty − 18 =