Parliament Budget Session का दूसरा दिन, कार्यवाही शुरू होते ही लोक सभा में हंगामा

396
Parliament Budget Session का दूसरा दिन, कार्यवाही शुरू होते ही लोक सभा में हंगामा

नई दिल्ली: बजट सत्र (Parliament Budget Session) के दूसरे दिन राज्य सभा और लोक सभा की कार्यवाही शुरू हो गई है. कार्यवाही शुरू होते ही लोक सभा में हंगामा शुरू हो गया. खास बात यह है कि संसद का कामकाज आज से अपने सामान्य समय पर होगा. आज दोनों सदनों की कार्यवाही अपने पूर्व निर्धारित समय सुबह 11 बजे शुरू हो गई, कार्यवाही शाम 6 बजे तक चलेगी.

पुरानी व्यवस्था बहाल

बता दें, कोरोना महामारी के कारण पिछले साल मानसून सत्र नई व्यवस्था लागू की गई थी. नई व्यवस्था के तहत राज्य सभा (Rajya Sabha) की कार्यवाही सुबह 9 बजे से दोपहर 2 बजे तक चलती थी. लोक सभा (Lok Sabha) की कार्यवाही शाम 4 बजे से रात्रि 9 बजे तक चलती थी. सोमवार (8 मार्च) से बजट सत्र का दूसरा चरण शुरू हुआ है. दूसरे चरण के पहले ही दिन जमकर हंगामा हुआ. पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस की बढ़ती कीमतों को लेकर विपक्ष ने जमकर हंगामा किया. हंगामे की वजह से सदन की कार्यवाही स्थगित करनी पड़ी थी.

विपक्ष आज भी हमलावर

महंगाई के मुद्दे पर विपक्ष आज भी हमलावर है. राज्य सभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने पेट्रोल, डीजल, रसोई गैस की बढ़ती कीमतों को लेकर सस्पेंशन ऑफ बिजनेस नोटिस दिया है. कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी ने भी तेल की बढ़ती कीमतों पर चर्चा के लिए लोक सभा में एडजर्नमेंट ऑफ बिजनेस मोशन दिया है. इसके अलावा बीएसपी सांसद सतीश चंद्र मिश्रा ने राज्य सभा में सस्पेंशन ऑफ बिजनेस नोटिस दिया है.

‘विपक्ष की बात क्यों नहीं दिखाई जाती?’

लोक सभा में विपक्ष के नेता अधीर रंजन चौधरी ने विपक्ष की बात टीवी पर न दिखाए जाने का आरोप लगाया. उन्होंने सवाल उठा, विपक्ष की बात टीवी पर क्यों नहीं आती? देश में डिटिजल भेदभाव हो रहा है. अधीर रंजन ने कहा, विपक्ष के लिए ब्लैक आउट बंद होना चाहिए. कैमरा सब पर फोकस करे.

हरसिमरत को पीयूष गोयल ने दिया जवाब

किसानों के मुद्दे पर बोलते हुए अकाली दल की सांसद हरसिमरत कौर ने कहा, 40 फीसदी किसान ऐसे हैं जिनके पास जमीन नहीं है, ऐसे किसान कहां जाएं? उन्होंने FCI ACT में संशोधन की मांग उठाई इस पर पीयूष गोयल ने कहा, पूरे देश में FCI की प्रोक्योरमेंट अच्छे से चल रही है. गोयल ने कहा, एक राज्य है जो कहता है कि हम किसानों के खाते में पैसा नहीं डालेंगे, क्या वो किसानों का पैसा हड़पना चाहते हैं? हमें पूछने से पहले राज्य सरकार से पूछें. उन्होंने कहा, किसानों के हित में अच्छी ईमानदार, पारदर्शी व्यस्था की गई है.

यह भी पढ़ें: क्या हम दूसरे प्रदेशों की आईडी से दिल्ली में सेविंग अकाउंट खुलवा सकते हैं और कैसे?

सत्र स्थगित करने की मांग

बताते चलें कि टीएमसी समेत कई दलों ने विधान सभा चुनावों को देखते हुए बजट सत्र (Budget Session) को समय से पहले स्थगित करने की मांग की है. राज्य सभा के सभापति एम वेंकैया नायडू को लिखे एक पत्र में तृणमूल कांग्रेस के सदस्य और प्रवक्ता डेरेक ओ ब्रायन ने कहा कि चुनावों के कारण उनकी पार्टी के सदस्य संसद के बजट सत्र में उपस्थित नहीं रह सकेंगे. तृणमूल कांग्रेस के नेता सुदीप बंदोपाध्याय ने भी इस मुद्दे पर लोक सभा अध्यक्ष ओम बिरला को पत्र लिखकर सत्र स्थगित करने का आग्रह किया है. पांच राज्यों के चुनाव के मद्देनजर संसद का बजट सत्र इस बार समय से पहले ही खत्म होने की संभावना है.

Source link