UP Top News : आजम खान के गढ़ रामपुर में चौराहे का बदला नाम, मां ने अपनी 2 बेटियों को नदी में फेंका | UP Top News Azam Khan city Rampur crossroads Changed name Mother threw her 2 daughters river | Patrika News

0
123

UP Top News : आजम खान के गढ़ रामपुर में चौराहे का बदला नाम, मां ने अपनी 2 बेटियों को नदी में फेंका | UP Top News Azam Khan city Rampur crossroads Changed name Mother threw her 2 daughters river | Patrika News

एक अगस्त से मतदाता सूची को आधार से लिंक करेगा आयोग निर्वाचन आयोग मतदाता सूची को आधार से लिंक करने के लिए एक अगस्त से 31 दिसंबर तक अभियान चलाएगा। इसके तहत निर्वाचक नामावली में शामिल हर नाम का आधार नंबर एकत्र किया जाएगा और इसे आधार से लिंक किया जाएगा। अप्रैल 2023 तक यह प्रक्रिया पूरी करने का लक्ष्य रखा गया है। सभी मतदाताओं तक पहुंचकर उनका आधार नंबर लेने का प्रयास किया जाएगा। एक बार मतदाताओं के नाम आधार नंबर से जुड़ जाने के बाद मतदाता सूची में कोई डुप्लीकेट नाम नहीं रहेगा। जिला निर्वाचन कार्यालय की ओर से आधार कार्ड लेने के लिए किसी प्रकार का दबाव नहीं बनाया जाएगा। आधार कार्ड न होने की स्थिति में ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट सहित 11 दस्तावेजों में से कोई एक दस्तावेज देना होगा।

सुलतानपुर में आए थे बेटे को मारने पिता की कर दी हत्या गोपालपुर सराय ख्वाजा गांव में मामूली विवाद में रविवार रात बदमाशों ने विजयपाल मिश्रा (55 वर्ष) पर फायरिंग कर दी। गंभीर रूप से घायल विजयपाल को सीएचसी से जिला अस्पताल पहुंचाया गया, जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। क्षेत्राधिकारी रमेश व थाना प्रभारी अकरम खान ने मौके पर पहुंचकर जांच पडताल करते हुए घेराबन्दी की मगर बदमाश भाग निकले। गांव निवासी विजयपाल मिश्रा खाना खाने के बाद घर के बाहर बरामदे में सो रहे थे। रात करीब 9.30 बजे एक बाइक पर सवार तीन लोग पहुंचे और सो रहे विजयपाल को जगाया और उसके बेटे बबलू के बारे में पूछने लगे। संतुष्ट उत्तर न मिलने पर उक्त बदमाशों ने विजय पाल पर ही फायरिंग कर दी। गोली लगने से विजयपाल घायल होकर गिर पड़े। वारदात को अंजाम देने के बाद हमलावर मौके से फरार हो गए।

जेठ को फंसाने के लिए 2 बेटियों को नदी में फेंका देवरिया. मां का यह रुप तो कम ही देखने को मिलता है। एक मां, अपने जेठ को फंसाने के लिए अपनी ही दो बेटियों की जान की दुश्‍मन बन गई। उसने सो रही बच्चियों को गंडक नदी में फेंक दिया। एक बच्‍ची की लाश मिल गई जबकि पुलिस दूसरी बच्‍ची की तलाश में जुटी है। बताया जा रहा है कि, दो दिन पहले गांव में हुई पंचायत में सास के हिस्से की जमीन जेठ को देने से महिला नाराज हो गई थी। देवरिया के तरकुलवा थाना क्षेत्र के बसंतपुर धुसी गांव के रहने वाले स्वामीनाथ के तीन बेटे हैं। बंटवारे में खेत को चार हिस्से में बांटा गया। तीन हिस्से भाईयों में बांट दिए गए। एक हिस्सा मां राजकुमारी को दिया गया था। मां अपने मझले बेटे बृजराज के साथ रह रही थी। राजकुमारी ने कहा था कि उसकी जो सेवा करेगा उसी को वह जमीन देगी। पिछले पांच जून को राजकुमारी की मौत हो गई। सबसे छोटे बेटे बृजवासी की पत्नी संध्या को उम्मीद थी कि उसकी सास की जमीन में से कुछ हिस्सा उसे मिल जाएगा। पर वह जमीन जेठ के हिस्से में चली गई।



Copy

उत्तर प्रदेश की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Uttar Pradesh News