UP निकाय चुनाव: उत्तराखंडी वोट बैंक में सेंधमारी का प्रयास, जानिए आखिर कैसे कांग्रेस और आप की बिसात से BJP में मची खलबली

9
UP निकाय चुनाव: उत्तराखंडी वोट बैंक में सेंधमारी का प्रयास, जानिए आखिर कैसे कांग्रेस और आप की बिसात से BJP में मची खलबली

UP निकाय चुनाव: उत्तराखंडी वोट बैंक में सेंधमारी का प्रयास, जानिए आखिर कैसे कांग्रेस और आप की बिसात से BJP में मची खलबली

UP Nikay Chunav 2023: नगर निगम चुनाव में बेशक प्रचार के मामले में बीजेपी अन्य दलों से आगे चल रही हो लेकिन सपा, कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के प्रत्याशी जिस प्रकार से एक विशेष रणनीति के तहत जाति और क्षेत्र के वोटों में सेंध लगा रहे हैं, उससे बीजेपी के रणनीतिकार अलर्ट मोड में आ गए हैं।

 

हाइलाइट्स

  • आम आदमी पार्टी और कांग्रेस ने उत्तराखंड समाज से प्रत्याशी उतारा।
  • बीजेपी अब तक उत्तराखंडी वोटर्स को अपना परंपरागत वोट बैंक मानती रही है।
  • बीजेपी ने उत्तराखंड के कई नेताओं को प्रचार में उतारने का बनाया प्लान।
गाजियाबाद: नगर निगम चुनाव (Ghaziabad Nikay Chunav 2023) को लेकर 11 मई को होने वाले मतदान की तारीख जैसे-जैसे नजदीक आ रही है, वैसे-वैसे पार्टियां वोटर्स को अपने पक्ष में करने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ रही हैं। खासकर क्षेत्र और जाति विशेष के वोटर्स को अपने पक्ष में करने के लिए उन्हीं के सजातीय और क्षेत्र के नेताओं को चुनाव मैदान में उतारने की तैयारी कर ली गई है। निगम चुनाव में मेयर पद पर आम आदमी पार्टी और कांग्रेस ने जिस प्रकार से उत्तराखंड समाज से प्रत्याशी को उतारा है, ऐसा कर उन्होंने बीजेपी के रणनीतिकारों को परेशान कर दिया है। बीजेपी अब तक उत्तराखंडी वोटर्स को अपना परंपरागत वोट बैंक मानती रही है, कहीं ये वोट छिटक न जाएं इसके लिए पार्टी ने उत्तराखंड के कई नेताओं को प्रचार के लिए उतारने का प्लान तैयार कर लिया है।

नगर निगम चुनाव में बेशक प्रचार के मामले में बीजेपी अन्य दलों से आगे चल रही हो लेकिन सपा, कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के प्रत्याशी जिस प्रकार से एक विशेष रणनीति के तहत जाति और क्षेत्र के वोटों में सेंध लगा रहे हैं, उससे बीजेपी के रणनीतिकार अलर्ट मोड में आ गए हैं। सबसे ज्यादा बीजेपी की चिंता अपने परंपरागत उत्तराखंडी वोट बैंक को लेकर है। 15 लाख से अधिक वोटरों वाले निगम क्षेत्र में सवा लाख से अधिक उत्तराखंडी वोटर हैं। वहीं, इन वोटों का प्रभाव अपने अपने क्षेत्र में अन्य समाज के वोटर्स में भी काफी अधिक है। यही कारण है बीजेपी किसी भी तरह इन वोटर्स को छिटकने नहीं देना चाहती है।

कांग्रेस ने पुष्पा को टिकट देकर चला दांव

मेयर के पद के लिए कांग्रेस ने पुष्पा रावत को चुनाव मैदान में उतारा है। पुष्पा मूलरूप से उत्तराखंड की रहने वाली हैं और उनका गाजियाबाद से पुराना नाता व रिश्तेदारी है। कई शिक्षण संस्थान चलाने के कारण उनका दूसरे समाज में भी खासा असर है। हालांकि पहला टारगेट उत्तराखंड समाज के अपने वोट बैंक को मजबूती से साधना है। इसके लिए उनके पक्ष में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत समेत कई अन्य उत्तराखंड के नेता वोटर्स को अपने पक्ष में करने के लिए जल्द ही गाजियाबाद में डेरा डालेंगे।

आप की जानकी बिष्ट भी हैं उत्तराखंड से

आम आदमी पार्टी बेशक गाजियाबाद में राजनीतिक रूप से अभी तक मजबूत न मानी जाती हो लेकिन उसने उत्तराखंड समाज की अल्मोड़ा जिला निवासी जानकी बिष्ट को प्रत्याशी बनाकर बीजेपी का सिरदर्द बढ़ा दिया है। जानकी बिष्ट के पति कांग्रेस के पुराने नेता तो हैं ही, उत्तराखंड समाज में उनकी अच्छी पैठ भी है। आम आदमी पार्टी भी उत्तराखंड के कई नेताओं के साथ पार्टी प्रमुख अरविंद केजरीवाल को चुनाव प्रचार में उतारने का प्रयास कर रही है।

भाजपा के सामने वोटर्स को साधना चुनौती

बीजेपी के लिए मजबूत वोट बैंक माने जाने वाले उत्तराखंड समाज के लोग इस बार कहीं बंट न जाएं, यह बड़ी चुनौती बना हुआ है। इसके लिए पार्टी के रणनीतिकार उत्तराखंड के वरिष्ठ नेता और महाराष्ट्र के गवर्नर रह चुके भगत सिंह कोश्यारी को नगर निगम चुनाव में उतारने की तैयारी कर चुके हैं। जल्द ही वह गाजियाबाद में डेरा डाल देंगे। पार्टी के चुनावी रणनीतिकार उत्तराखंड समाज के प्रभाव वाले क्षेत्रों में उनकी नुक्कड़ सभाओं से लेकर बैठक करने की तैयारी में जुटे हुए हैं। राजनीतिक सूत्रों का कहना है कि यदि उत्तराखंड समाज बीजेपी से छूटा तो उसे काफी नुकसान हो सकता है। यही, हालत बिहार और पूर्वांचल के वोटों की स्थिति से होने वाली है।

आसपास के शहरों की खबरें

Navbharat Times News App: देश-दुनिया की खबरें, आपके शहर का हाल, एजुकेशन और बिज़नेस अपडेट्स, फिल्म और खेल की दुनिया की हलचल, वायरल न्यूज़ और धर्म-कर्म… पाएँ हिंदी की ताज़ा खबरें डाउनलोड करें NBT ऐप

लेटेस्ट न्यूज़ से अपडेट रहने के लिए NBT फेसबुकपेज लाइक करें

उत्तर प्रदेश की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Uttar Pradesh News